सेबी ने साख निर्धारण एजेंसियों पर कसा नकेल, चूक संभाव्यता के बारे में देनी होगी जानकारी

Samachar Jagat | Friday, 14 Jun 2019 02:28:02 PM
SEBI has to provide information on credit rating agencies, information about the defaulting probability

नई दिल्ली। पूंजी बाजार नियामक सेबी बृहस्पतिवार को साख निर्धारण एजेंसियों के लिये सार्वजनिक सूचना के कड़े नियम जारी किए जिनके तहत उन्हें रेटिंग वाले विभिन्न वित्तीय उत्पादों के लिये चूक की संभाव्यता के बारे में जानकारी देनी होगी। 

रेटिंग कंपनियों को रिण चूक की निगरानी और उसकी समय से सूचना के बारे में एक जैसी ‘मानक परिचालन प्रक्रिया’ लागू करनी होगी और उसे अपनी कंपनी की वेबसाइट पर प्रकाशित करना होगा। 

नियामक ने यह कदम ऐसे समय उठाया है जब कर्ज लौटाने में चूक के मामले तथा साख निर्धारण एजेंसियों की जोखिम संभाव्यता का आकलन करने की भूमिक को लेकर चिंताए बढ़ रही हैं। आईएल एंड एफएस मामले में साख निर्धारण एजेंसियां जांच के घेरे में हैं।

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने चूक की निगरानी और समय पर उसका पता लगाने के संदर्भ में साख निर्धारण एजेंसियों के लिये खुलासा का दायरा बढ़ाते हुए एक समान मानक परिचालन प्रक्रिया पर जोर दिया है। इस बारे में प्रत्येक क्रेडिट रेभटग की वेबसाइट पर जानकारी देनी होगी। इसके अलावा एजेंसियों को चूक मानकों की संभाव्यता मानकों को लाना होगा।

इसमें कहा गया है कि सीआरए जो भी वित्तीय उत्पादों का साख निर्धारण करती हैं, उनके बारे में मानकीकृत तथा एक समान चूक संभाव्यता मानदंडों की घोषणा वे अपनी वेबसाइट पर करे। उन्हें यह 31 दिसंबर 2019 तक करना है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.