न्यासी के रुप में कारोबार करने वाली इकाइयों के लिए नियमन कड़े करने पर चर्चा करेगा सेबी

Samachar Jagat | Friday, 14 Sep 2018 10:45:13 AM
SEBI to discuss regulatory norms for business entities as trustees

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। पूंजी बाजार नियामक सेबी का निदेशक मंडल प्रतिभूति बाजार में अमानतदार ( फिडुसिएरीज ) के रुप में दूसरे के भरोसे पर निवेश करने वाली इकाइयों के लिए नियम कड़े करने पर अगले सप्ताह चर्चा कर सकता है। न्यासी या अमानती के तौर पर काम करने वालों की श्रेणी में मर्चेन्ट बैंकर, रेटिंग एजेंसियां, चार्टर्ड एकाउंटेंट तथा कंपनी सचिव आदि शामिल हो सकते हैं।

पतंजलि गाय के दूध के कारोबार में, कंपनी का अगले वित्तवर्ष में 1,000 करोड़ रुपए की बिक्री का लक्ष्य

नियामक ने जुलाई में प्रस्तावित 'सेबी ( फिडुसएरीज इन द सिक्योरिटीज मार्केट ) ( एमेंडमेंट ) रेगुलेशन’ पर विचार-विमर्श को लेकर परामर्श पत्र जारी किया था। एक अधिकारी ने बताया कि प्रस्ताव पर सेबी के निदेशक मंडल में अगले सप्ताह चर्चा की जा सकती है। संशोधन नियम उन इकाइयों पर लागू होगा जो प्रतिभूति कानून के तहत तीसरा पक्ष के रूप में अमानतदार कार्यों को करते हैं। 

एयरटेल के 300 रुपए से भी कम कीमत के इस प्लान में मिल रहा रोजाना 1जीबी डाटा

अधिकारी ने कहा कि संशोधन के लागू होने के बाद सेबी पास वैसे मामलों में अमानतदारों के खिलाफ कार्रवाई करने की अधिक शक्तियां होंगी जहां वे गलत प्रमाणनपत्र, रिपोर्ट देते हैं या नियमन का उल्लंघन करते है। सार्वजनिक निर्गम से जुड़े मर्चेन्ट बैंकर, रेटिग एजेंसियां, डिबेंचर ट्रस्टी तथा पंजीयक जहां सेबी के पास पंजीकृत होते हैं। हालांकि चार्टेड एकाउंटेंट तथा कंपनी सचिव, कास्ट एकाउंटेंट, वैलुअर्स तथा निगरानी एजेंसियां उसके पास पंजीकृत नहीं होते। आपको बता दें कि इससे पहले पूंजी बाजार नियामक सेबी ने इस दावे को पूरी तरह से बेतुका और गैर-जिम्मेदाराना बताया कि उसकी नियामकीय पहल से 75 अरब डॉलर की विदेशी पूंजी देश से बाहर निकल जाएगी। - एजेंसी 

शीर्ष उपभोक्ता मंच ने एक्सिस बैंक से ग्राहक को 50 लाख रु का भुगतान करने को कहा

फिल्म मनमर्जिया में सरदार का किरदार निभाने वाले अभिषेक बच्चन को आई अपनी दादी की याद, कहीं ये बात

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.