कॉल ड्राप पर दूरसंचार कंपनियों को कारण बताओ नोटिस: ट्राई प्रमुख

Samachar Jagat | Wednesday, 14 Mar 2018 11:16:25 AM
Show cause notice to telecom companies on call drops : TRAI chief

नई दिल्ली। दूरसंचार नियामक ट्राई ने कहा कि कुछ दूरसंचार परिचालकों को कॉल ड्राप के मामले में सेवा गुणवत्ता के नए नियमों को पूरा करने में विफल रहने को लेकर कारण बताओ नोटिस दिया गया है। उन्हें इस सप्ताह तक जवाब देने को कहा गया है। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण( ट्राई) के चेयरमैन आर एस शर्मा ने उन कंपनियों का नाम सार्वजनिक कर उन्हें शर्मिदा करना नहीं चाहता। उन्होंने उन कंपनियों के नाम बताने से मना कर दिया जिसे कारण बताओ नोटिस दिए गए हैं।

उन्होंने कहा कि नियामक मानदंडों का पालन नहीं करने वाली कंपनियों का नाम सार्वजनिक नहीं करना चाहेगी। शर्मा ने कहा कि संशोधित गुणवत्ता सेवा मानदंडों का पालन नहीं करने को लेकर विशिष्ट सर्किलों के लिए संबंधित कंपनियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

रिपोर्ट : बीएसएनएल, एयर इंडिया, एमटीएनएल हैं सबसे बीमारू सरकारी कंपनियां

http://static.samacharjagatlive.com/newscdn/resources/uploads/ALL-NEWS/14032018/1521006268.jpg

आकलन में नए और अधिक कड़े कॉल ड्राप नियमों को मानक बनाया गया है जो एक अक्तूबर 2017 में प्रभाव में आया। इन मानदंडों के तहत दिसंबर तिमाही में पहली बार कंपनियों ने अपने नेटवर्क डेटा के बारे में जानकारी दी। नए नियमों के अंतर्गत दूरसंचार कंपनियों को कॉल ड्राप के लिए अधिकतम 10 लाख रुपए का जुर्माना देना पड़ सकता है। इसका आकलन मोबाइल टावर के स्तर पर किया जाएगा न कि दूरसंचार सर्किल के स्तर पर।

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 150 अंक से ज्यादा गिरा, निफ्टी 10,400 के नीचे

उन्होंने कहा कि संबंधित दूरसंचार कंपनियों के जवाब ओने के बाद ट्राई एक महीने में कार्रवाई के बारे में निर्णय करेगा। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि कितनी कंपनियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं। शर्मा ने कहा, '' प्रक्रिया के तहत हमने उन्हें कुछ समय दिया है... जवाब देने की समयसीमा इस सप्ताह समाप्त हो रही है।’’ कंपनियों को नोटिस अक्तूबर- दिसंबर 2017 में उनके नेटवर्क के प्रदर्शन के आधार पर दिए गए हैं।

यह पूछे जाने पर कि नियामक के पास जो आंकड़े हैं क्या उससे कॉल ड्राप की स्थिति खराब होने का पता चलता है, शर्मा ने कहा, '' मैं इस पर कोई सामान्य सा बयान नहीं दे सकता क्योंकि कोई सर्किल हो सकता है जहां स्थिति खराब हुई है लेकिन कुछ सर्किल ऐसे भी हो सकते हैं, जहां चीजें बेहतर हुई हैं... ।’’ एजेंसी

निर्णायक प्राधिकरण ने की कार्ति चिदंबरम की संपत्तियों की कुर्की पक्की 

बैंक घोटाले पर चर्चा से भाग रही है सरकार: कांग्रेस

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.