भारतीय स्टेट बैंक को 838 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ, कहा- बुरा समय बीता

Samachar Jagat | Saturday, 11 May 2019 10:26:16 AM
State Bank of India has a net profit of Rs.838 crores, said- Bad time has passed

मुंबई। ऋणों की गुणवत्ता में सुधार और कर्ज की लागत में गिरावट से भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने 2018-19 की चौथी तिमाही में 838 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ दर्ज किया। इसकी तुलना में बैंक को 2017-18 की जनवरी-मार्च तिमाही में 7,718 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा हुआ था। मार्च में समाप्त वित वर्ष 2018-19 में बैंक का शुद्ध लाभ 862 करोड़ रुपए रहा। 2017-18 में उसे 6,547 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था।

सोने की कीमत अपरिवर्तित, उठाव बढ़ने से चांदी में 380 रुपए की तेजी

बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने संवाददाताओं से कहा कि बैंक ने सभी मानकों पर अच्छा प्रदर्शन किया है। स्थितियों में बदलाव आया है। ऋण परिसंपत्ति की गुणवत्ता में सुधार दिख रहा है। सकल एनपीए और शुद्ध एनपीए दोनों में गिरावट दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि कर्ज की लागत भी एक प्रतिशत सुधर कर 2.66 प्रतिशत हो गई है।

इससे एक साल पहले यह 3.62 प्रतिशत थी। कुमार ने कहा कि बैंक को चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है और 2019-20 के लिए कर्ज वृद्धि की दर 10-12 प्रतिशत रखने का लक्ष्य है। आलोच्य अवधि में एसबीआई के ऋणों की गुणवत्ता में सुधार दर्ज किया गया।

मार्च 2019 के अंत तक बैंक का सकल एनपीए घट कर सकल कर्ज के 7.53 प्रतिशत के बराबर था। मूल्य के आधार पर यह 1,72,750 करोड़ रुपए बैठता है। मार्च 2018 तिमाही के अंत में एसबीआई का सकल एनपीए 10.91 प्रतिशत या 2,23,427 करोड़ रुपए था। इस दौरान शुद्ध एनपीए का स्तर भी घट कर 3.01 प्रतिशत (65,895 करोड़ रुपए) रह गया। एक साल पहले यह 5.73 प्रतिशत (1,10,855 करोड़ रुपए) था। तिमाही में 7,505 करोड़ रुपए का नया एनपीए खड़ा हुआ है जबकि पूरे साल के लिए यह आंकड़ा 32,738 करोड़ रुपए का है।

कुमार ने कहा कि साल के दौरान, बैंक की वसूली 37,000 करोड़ रुपए के सर्वकालिक उच्च स्तर पर रहा। इसमें से 13,836 करोड़ रुपए दिवाला एवं ऋण शोधन अक्षमता संहिता (आईबीसी) प्रक्रिया से आए। कुमार ने कहा कि एस्सार स्टील, भूषण पावर एंड स्टील और आलोक इंडस्ट्रीज की समाधान योजना अग्रिम चरण में है।

बैंक ने इनके लिए 100 प्रतिशत का प्रावधान किया है और प्रक्रिया पूरे होने के बाद इन खातों से करीब 16,000 करोड़ रुपए की वसूली होने की उम्मीद है। स्टेट बैंक ने आईएलएंडएफएस को 3,487 करोड़ रुपए का कर्ज दिया है, जिसमें से 1,125 करोड़ रुपए एनपीए हो गए हैं। उन्होंने कहा कि बैंक ने कर्ज के लिए 50 प्रतिशत का प्रावधान किया है।

हरे निशान पर खुला बाजार लाल निशान पर हुआ बंद, सेंसेक्स 96 अंक लुढ़का

बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि इस बार मार्च तिमाही में उसकी एकल आय करीब 11 प्रतिशत बढ़कर 75,670.50 करोड़ रुपए रही। एक साल पहले की इसी अवधि में एकल आय 68,436.06 करोड़ रुपए थी। पूरे वित्त वर्ष (अप्रैल - मार्च) 2018-19 में बैंक का एकीकृत शुद्ध लाभ 3,069.07 करोड़ रुपए रहा जबकि 2017-18 में उसे 4,187.41 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा हुआ था। इस दौरान , एसबीआई की सभी कंपनियों से एकीकृत आय 3.30 लाख करोड़ रुपए रही , जो 2017-18 में 3.01 लाख करोड़ रुपए थी। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.