इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिये प्रदूषण फैलाने वाली गाडिय़ों पर लगे हरित कर: एसएमईवी

Samachar Jagat | Tuesday, 18 Jun 2019 01:33:33 PM
To promote electric vehicles, green tax on polluting vehicles: SMEV

नई दिल्ली। इलेक्ट्रिक वाहन बनाने वाली कंपनियों का संगठन एसएमईवी ने सोमवार को प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों पर हरित कर लगाने की मांग की। इसके अलावा मजबूत व्यवस्था बनाने को लेकर इलेक्ट्रिक वाहनों को प्राथमिक क्षेत्र के तहत कर्ज की श्रेणी में रखे जाने को भी कहा। 

Rawat Public School

बजट के लिये दिये अपने मांग पत्र में सोसाइटी आफ मैनुफैक्चरर्स आफ इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (एसएमईवी) ने सरकार से ‘स्वच्छ वायु’ अभियान के लिये अलग से बजट आबंटन करने को कहा। इसे स्वच्छ भारत मिशन के तहत एकीकृत किया जा सकता है।

एसएमईवीके महनिदेशक सोहिन्दर गिल ने एक बयान में कहा, ‘‘हम प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों पर हरित उपकर लगाने और इसका उपयोग इलेक्ट्रिक वाहनों को गति देने में करने की मांग करते हैं।’’ उन्होंने कहा कि ऐसे उपकर से सृजित कोष सरकारी खजाने पर बोझ को कम कर सकते हैं।

गिल ने कहा, ‘‘इस कोष का उपयोग ग्राहकों को प्रोत्साहन देने और दो पहिया इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमतों को पेट्रोल से चलने वाले दो पहिया वाहनों की कीमतों के बराबर लाने में किया जा सकता है।’’

एसएमईवी ने यह भी कहा कि ‘स्वच्छ वायु’ अभियान के लिये अलग से बजट आबंटित किया जा सकता है ओर इसे स्वच्छ भारत मिशन के तहत एकीकृत किया जा सकता है।

उन्होंने कहा, ‘‘सरकार उन लोगों को निश्चित अवधि के लिये कर से राहत दे सकती है जो हरित वाहनों का उपयोग करते हैं और पर्यावरण संरक्षण में योगदान करते हैं।’’ -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.