मोहाली के नए मेडिकल कॉलेज के लिए 994 पदों के सृजन को मंजूरी

Samachar Jagat | Monday, 10 Jun 2019 12:37:46 PM
Approval of 994 posts for Mohalis new Medical College

चंडीगढ़। पंजाब सरकार ने मोहाली में प्रस्तावित 100 एमबीबीएस सीटों की क्षमता वाले नए सरकारी मेडिकल कॉलेज के लिए शिक्षण, अर्द्धचिकित्सा और बहु उद्देश्यीय कर्मियों के चरणबद्ध ढंग से 994 पद सृजित करने, पंजाब कौशल विकास मिशन का रोजग़ार सृजन एवं प्रशिक्षण विभाग में विलय करने, प्राईवेट मेडिकल संस्थाओं के फीस ढांचे और अन्य मामलों की जांच करने के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित करने जैसे महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं। राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता मेें हुई मंत्रीमंडल की बैठक में इन फैसलों संबंधी प्रस्तावों को मंजूरी प्रदान की गई। उल्लेखनीय है कि प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज का वर्ष 2020-21 से अकादमिक सत्र शुरू होगा तथा भारतीय चिकित्सा परिषद द्बारा 100 एमबीबीएस सीटों वाले इस कॉलेज के लिए निर्धारित न्यूनतम मापदंड पूरे करने के लिए इन पदों का सृजन करना ज़रूरी था। 

FCI में अब एक ही श्रेणी के होंगे श्रमिक, 4103 कर्मचारियों की होगी भर्ती :पासवान

मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज के लिए स्वीकृत गए पदों में 168 पद मेडिकल शिक्षण, 426 अर्द्धचिकित्सा कर्मी और 400 पद ग्रुप-चार श्रेणी के हैं। लगभग 189 करोड़ रूपए लागत का यह कॉलेज 23 एकड़ क्षेत्र में स्थापित किया जाएगा जिसमें मोहाली जिला अस्पताल, पंजाब हैल्थ मेडिकल सिस्टम कार्पोरेशन और राज्य स्वास्थ्य प्रशिक्षण संस्थान की 14.01 एकड़ और ग्राम पंचायत जुझार नगर की 9.2 एकड़ ज़मीन शामिल है। कॉलेज को केंद्र सरकार ने 21 जून 2018 को मंजूरी प्रदान की थी। इस परियोजना लागत में केंद्र और राज्य सरकार का 60:40 के अनुपात से हिस्सा होगा। केंद्र ने अपने हिस्से के 113 करोड़ रुपए में से 102 करोड़ रुपए जारी कर दिए हैं।

बैठक में राज्य में नौजवानों के लिए रोजग़ार के मौके बढ़ाने के मद्देनजर मंत्रीमंडल ने रोजग़ार सृजन एवं प्रशिक्षण विभाग का पुनर्गठन कर इसमें पंजाब कौशल विकास मिशन का विलय करने की मंजूरी प्रदान की। इस विभाग को अब रोजग़ार सृजन, कौशल विकास एवं प्रशिक्षण विभाग से जाना जाएगा। कौशल विकास विभाग अभी तक राज्य तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के पास था। विलय से रोजग़ार सृजन एवं कौशल विकास की विभिन्न योजनाओं को लागू करने के लिए बेहतर समन्वय और निगरानी कायम हो सकेगी।

ब्रिटेन के संकटग्रस्त कार बाजार को एक और बड़ा झटका: वेल्स का इंजन कारखाना करेगी बंद फोर्ड, 1700 लोग हो जाएंगे बेरोजगार

मंत्रिमंडल ने प्राईवेट मेडिकल संस्थाओं द्बारा मेडिकल के छात्रों से अधिक फीस वसूलने की सूचनाओं के मद्देनज़र इनके फीस ढांचे और अन्य समस्याओं एवं मामलों की जांच करने के लिए मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया है। स्वास्थ्य मंत्री ब्रह्म मोहिन्द्रा, वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल और तकनीकी शिक्षा मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी पर इस कमेटी के सदस्य होंगे। बैठक में चन्नी ने प्राईवेट विश्वविद्यालयों और नौकरियों के लिए आरक्षण व्यवस्था लागू करने का भी सुझाव दिया। -एजेंसी 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.