अब डॉक्टर्स को अपनी काबिलियत का देना होगा प्रूफ 

Samachar Jagat | Saturday, 26 Nov 2016 03:51:14 PM
अब डॉक्टर्स को अपनी काबिलियत का देना होगा प्रूफ 

अब डॉक्टरी की डिग्री ले लेने और रजिस्ट्रेशन करा लेने भर से कोई जिंदगी भर प्रैक्टिस नहीं कर पाएगा। सरकार जल्द ही ऐसे इंतजाम करने जा रही है कि जिसके तहत डॉक्टर को समय-समय पर अपनी काबिलियत का टेस्ट देना पड़ेगा। इस टेस्ट में पास होने के बाद ही उसे आगे प्रैक्टिस जारी रखने की अनुमति मिल पाएगी।

रिसर्च एंड टेक्निकल असिस्टेंट पदों के लिए 29 नवम्बर तक आवेदन दे।

सरकार मेडिकल क्षेत्र में सुधारों के तहत इस योजना को अमल में लाने जा रही है। इसके तहत हर तीन या पांच साल में डॉक्टरों के लिए पुनर्मूल्यांकन परीक्षा (रीवैल्यूएशन टेस्ट) का आयोजन किया जाएगा। इसकी अवधि पर अभी अंतिम फैसला नहीं हो पाया है। इसके तहत मेडिकल क्षेत्र में डॉक्टर के ज्ञान को परखा जाएगा। साथ ही, यह भी जाना जाएगा कि नई दवाओं और तकनीक से वह कितना वाकिफ है।

दिसम्बर में नेट जेआरएफ के प्रवेश पत्र अपलोड हो जाएंगे

प्रस्तावित नैशनल मेडिकल कमिशन बिल में इसका प्रावधान किया जा रहा है। इसे जल्द ही कैबिनेट के सामने पेश किया जा सकता है। डॉक्टर इसका विरोध कर रहे हैं। यह कमिशन मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) की जगह लेगा। बिल में इस बात का भी प्रावधान किया गया है कि मेडिकल कॉलेजों की मान्यता उनके स्टूडेंट्स की परफॉर्मेंस के आधार पर ही जारी रहेगी यानी अगर परफॉर्मेंस ठीक नहीं है, तो कॉलेज की मान्यता खत्म की जा सकती है।
 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.