बंद होंगे कम दाखिले वाले इंजीनियरिंग कॉलेज: एआईसीटीई

Samachar Jagat | Friday, 11 Aug 2017 05:42:12 PM
बंद होंगे कम दाखिले वाले इंजीनियरिंग कॉलेज: एआईसीटीई

नई दिल्ली। समूचे देश में विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेजों में 27 लाख से ज्यादा सीटों के खाली रहने के बीच एआईसीटीई ने उन तकनीकी कॉलेजों को बंद करने का निर्णय किया है जिनमें पिछले पांच साल में 30 प्रतिशत से कम दाखिले हुए हैं।

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के अध्यक्ष अनिल डी सहस्त्रबुद्धे ने यह जानकारी देते हुए बताया कि ऐसे कॉलेजों को अगले साल से बंद कर दिया जाएगा। एआईसीटीई देश में तकनीकी शिक्षा का नियामक है।

उन्होंने दो दिवसीय विश्व शिक्षा सम्मेलन में उन्होंने कहा कि हमने एक इंजीनियरिंग संस्थान को बंद करने पर जुर्माने को भी घटा दिया है। यह ऐसे कई कॉलेजों को बंद करने से रोका रहा था जो खराब मांग की वजह से बंद होना चाहते हैं।

एआईसीटीई के रिकॉर्ड के मुताबिक, देश में 10,361 इंजीनियरिंग संस्थान हैं जिनको एआईसीटीई ने मंजूरी दी हुई है। उनकी कुल क्षमता 37 लाख छात्रों से ज्यादा की है, इनमें से 27 लाख सीटें खाली पड़ी हैं।

सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि कई कॉलेजों को बंद करने के अलावा हमारा लक्ष्य जीवन कौशल और वास्तविक जीवन की मुश्किलों को हल करने पर है। देश में नौकरियों की संख्या कम हो रही है और उन्हें पूरे करना करने के लिए एआईसीटीई ने राष्ट्रीय छात्र स्टार्टअप नीति तैयार की है।

सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए राजस्थान की तकनीकी उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने कहा कि इसी शिक्षा सत्र से राजस्थान के करीब 220 सरकारी कॉलेजों में अत्याधुनिक भाषा प्रयोगशालाएं स्थापित की जाएंगी, क्योंकि वैश्विकरण के इस दौर में भाषा का ज्ञान अनिवार्य है।

NDA में लड़कियों के प्रवेश पर सरकार कर रही है विचार

सामान्य के साथ दिव्यांग बच्चे भी पढ़ सकेंगे 40 कहानियों की विशेष किताब

वन रक्षक में निकली भर्ती 

 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.