सामूहिक बलात्कार के दोषी किशोर को 20 वर्ष कठोर कारावास की सजा

Samachar Jagat | Friday, 02 Aug 2019 05:38:58 PM
20 year rigorous imprisonment for juvenile convicted of gang rape

सिमडेगा। एक नाबालिग लडक़ी से सामूहिक बलात्कार के दोषी नाबालिग लडक़े को स्थानीय अदालत ने बीस वर्ष कैद और पांच हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी है।


सिमडेगा जिला न्यायालय के एडीजे-1 नीरज कुमार श्रीवास्तव की अदालत ने नाबालिग लडक़ी से सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी नाबालिग लडक़े को गुरुवार को दोषी करार देते हुए 20 वर्ष कारावास एवं पांच हजार रुपये जुर्माना की सजा सुनाई। जुर्माना नहीं भरने पर उसे एक वर्ष अतिरिक्त कैद की सजा भुगतनी पड़ेगी।

अदालत ने फैसला सुनाने के बाद यह भी कहा कि 16 वर्षीय नाबालिग अपराधी को 21 वर्ष की उम्र पूरा होने तक बाल सुधार गृह में रखा जाए। साथ ही उसके आचरण में सुधार के लिए उसे शिक्षा एवं कौशल विकास से संबंधित साधन भी उपलब्ध करायें जायें।

जिला प्रोबेशन पदाधिकारी को अदालत ने निर्देशित किया कि वे नाबालिग अपराधी के आचरण एवं व्यवहार पर नजर रखते हुए रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे ताकि बाल अपराधी के 21 वर्ष की उम्र पूरा होने के बाद उसकी सजा की सुनवाई समीक्षा की जा सके।

घटना 31 मार्च 2018 की है। पुलिस के आरोप पत्र के अनुसार 13 वर्षीय नाबालिग लडक़ी घर से अंडा खरीदने के लिए निकली थी। इसी क्रम में नाबालिग लडक़े ने उसे अपनी मोटरसाइकिल पर बैठा लिया और उसे केलाघाघ बांध के किनारे ले गया और इस नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। 

इसके बाद उसने अपने एक अन्य सहयोगी अमृत कुमार प्रसाद को बुलाया और उसने भी नाबालिग पीडि़ता के साथ दुष्कर्म किया। इस मामले में दूसरे दोषी अमृत कुमार प्रसाद को पूर्व में ही एडीजे की अदालत 20 वर्ष कारावास की सजा सुना चुकी है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.