दंपति की लूटपाट के बाद हत्या, हाइवे पर गुस्साएं ग्रामीणों ने लगाया जाम

Samachar Jagat | Tuesday, 07 Aug 2018 06:31:59 PM
After couple robbery, villagers fired at highway, angry at highway

मेरठ। यूपी के मेरठ जिले के थाना खरखोदा क्षेत्र के भदौली खासपुर संपर्क मार्ग पर एक महिला और उसके पति की लूटपाट के बाद गोली मारकर हत्या कर दी गई। घटना के समय उनके साथ एक महिला भी थी, लेकिन हमलावरों ने उसे कुछ नहीं कहा। केवल दंपत्ति को ही गोली मारी दोनों की मौके पर मौत हो गई। इस घटना से गुस्साएं ग्रामीणों ने हाईवे को जाम कर दिया और तोडफ़ोड़ की।

महिलाओं को जगह देगी कांग्रेस, आरएसएस है ‘पुरुषों का एकाधिकारवादी संगठन’: राहुल

ग्रामीणों ने दोनों शव काफी देर तक हाईवे पर रखे रहे। एसपी देहात ने ग्रामीणों को समझाया जिसके बाद जाम खुल सका। जिला पुलिस प्रवक्ता के मुताबिक खडख़ड़ी निवासी 50 वर्षीय वीर सिंह अपनी पत्नी कैलाशी (45) के साथ हापुड़ अपनी रिश्तेदारी में जा रहा था।

दोनों के साथ उनके ही परिवार की एक विमला नाम की महिला भी थी। तीनों जब भदौली घर खास रोड पर पहुंचे थे तभी पीछे से आए बाइक सवार 3 बदमाशों ने उन्हें रोक कर वीर सिंह और कैलाशी से लूटपाट की। इस दौरान वीरसिंह को सीने पर और कैलाशी को पेट में गोली मार दी।

बदमाश कैलाशी के कुंडल और नकदी लूट कर फरार हो गए। घटना की सूचना स्थानीय लोगों ने पुलिस कंट्रोल रूम को दी जिसके बाद खरखोदा इंस्पेक्टर रितेश भसह मौके पर पहुंचे और जांच शुरू की। इस दौरान जैसे ही गांव में यह सूचना पहुंची तो खडख़ड़ी के सैकड़ों ग्रामीण मेरठ बुलंदशहर हाईवे पर पहुंच गए और खरखोदा के थाने के सामने जाम लगा दिया।

ग्रामीणों की मांग थी कि हत्या करने वाले आरोपियों को पकड़ा जाए। ग्रामीणों ने दोनों शवों को एक कार के अंदर रखकर हाईवे को जाम कर दिया कुछ देर तक कावड़ यात्री भी प्रभावित रहे। मौके पर पहुंची कई थानों की फोर्स ने स्थिति संभाली। ग्रामीणों ने आने जाने वाली बाइक और कारों में तोडफ़ोड़ भी की।

एसपी देहात राजेश कुमार, क्षेत्राधिकारी जितेंद्र सरगम और कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची और ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वहीं मौके पर विधायक सत्यवीर त्यागी भी पहुंचे और उन्होंने ग्रामीणों को शांत कराया।

एससी/एसटी कानून की बहाली के लिये मोदी सरकार को झुकाना बड़ी उपलब्धि : मायावती

जिसके बाद ग्रामीणों ने जाम खोला। पुलिस उस घटना को लूट के बाद हत्या मानकर नहीं चल रही है पुलिस को अंदेशा है कि यह रंजिशन मर्डर हुआ है क्योंकि यदि लूटपाट के बाद हत्या होती तो विमला नाम की महिला के साथ भी बदमाश लूटपाट करते।

लेकिन उन्होंने विमला को कुछ नहीं कहा। मृतक के गांव वालों के अनुसार वीर गांव में प्रधानी का चुनाव भी लड़ चुका है। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.