आखातीज आज, रहेगी शहर और गांव में शादियों की धूम 

Samachar Jagat | Tuesday, 07 May 2019 09:50:43 AM
Akshaya Tritiya today

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

जयपुर। आज देशभर में आखातीज का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। हर वर्ष बैसाख मास शुक्ल पक्ष की तृतीया को अक्षय तृतीया पर्व मनाया जाता है। इस दिन घरों में पारंपरिक खाद्यान बनने के साथ शादियों की धूम भी रहती है। शहर के बाजार इन दिनों खरीदारी के लिए गुलजार बने हुए है। वहीं आज कई अबूझ सावें भी होंगे। घरों में एक तरफ जहां शादियों को लेकर खुशी का माहौल है। 18 मई को पीपल पूर्णिमा पर अबूझ सावों के मुहूर्त में शहर में शादियों की धूम होगी।

आज होंगे कई अबूझ सावे
अबूझ सावे के देखते हुए शहर में खरीदारी जोरों पर है। भीषण गर्मी व तपिश के बावजूद बाजारों में भीड़ पड़ रही है। सनातन धर्म में ये दिन एक पर्व के रूप में मनाया जाता है। अक्षय का अर्थ हेाता है जिसका कभी क्षय ना हो। इस दिन किया गया कोई भी शुभ कार्य निष्फल नहीं होता है बल्कि ये सदैव श्रेष्ठ रहता है। इसे सामान्य भाषा में आखातीज कहते हैं। बैसाख मास शुक्ल पक्ष की तृतीया को अक्षय तृतीया के रूप में मनाया जाता है। सनातन धर्म में यह दिन एक पर्व के रूप में मनाया जाता है। अक्षय का अर्थ हेाता है जिसका कभी क्षय ना हो। इस दिन किया गया कोई भी शुभ कार्य निष्फल नहीं होता है बल्कि यह सदैव श्रेष्ठ रहता है। इसे सामान्य भाषा में आखातीज कहते हैं।

मनाया जा रहा है परशुराम का जन्मदिन
अक्षय तृतीया को भगवान परशुराम के जन्मदिवस के रूप में भी मनाया जाता है। इस दिन तीर्थस्थानों पर स्नान करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। मंदिरों में होगी कथा, बहेगी दान की गंगाआखातीज के दिन घरों और मंदिरों में भगवान विष्णु व माता लक्ष्मी की विशेष पूजा का विधान है। मंदिरों में अक्षय तृतीया की विशेष कथा होती है, भगवान का श्रृंगार होता है उन्हें विशेष तोर से गर्मी की पौशाक पहनाई जाती है। श्रद्धालु व्रत रखते हैं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.