प्रयाग कुंभ के अतिथियों का स्वागत करने की खास तैयारी में जुटा इलाहाबाद संग्रहालय

Samachar Jagat | Sunday, 09 Sep 2018 11:07:00 AM
Allahabad museum gathered in special preparation to welcome the guests of Kumbh

इलाहाबाद। अगले वर्ष जनवरी में लगने वाले प्रयाग कुंभ मेले में करोड़ों लोगों के आने की संभावना है और इनमें से बहुत से लोग शहर के अन्य पर्यटन स्थलों को भी देखना पसंद करते हैं। ऐसे ज्यादा से ज्यादा श्रद्धालुओं को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए राष्ट्रीय महत्व के इलाहाबाद संग्रहालय ने खास तैयारी शुरू की है और इस बार वह कुंभ मेले में अपने शिविर में ही टिकट काउंटर खोलेगा। इलाहाबाद संग्रहालय के निदेशक सुनील गुप्ता ने  बताया, ''इस बार हम कुंभ मेला क्षेत्र में अपने शिविर में टिकट काउंटर खोलेंगे और तीन दिनों की वैधता वाले टिकट वितरित करेंगे जिससे व्यक्ति तीन दिन में कभी भी संग्रहालय देख सके।’’

खेतों से लेकर मंडी तक किसानों की खुशहाली के लिए किया काम - वसुंधरा 

उन्होंने बताया कि इसके अलावा, संग्रहालय स्नान की तिथियों पर गांधी स्मृति वाहन को संग्रहालय के गेट पर खड़ा करेगा। 12 फरवरी, 1948 को गांधी जी की अस्थियों को संगम में विसर्जित करने के लिए इसी वाहन का उपयोग किया गया था। गुप्ता ने बताया कि वर्ष 2013 के प्रयाग कुंभ मेले के दौरान 47,000 लोगों ने इलाहाबाद संग्रहालय देखा था और जिस तरह से आगामी कुंभ की ब्रान्डिंग की जा रही है, उसे देखते हुए 2019 के कुंभ में एक लाख से अधिक लोगों के इस संग्रहालय में आने की उम्मीद है।

घर पर काम करने आई नाबालिग सहायिका पर फिसला आईआरएस अधिकारी का दिल और फिर... 

उन्होंने बताया कि कुंभ मेला क्षेत्र में संग्रहालय के पंडाल में गोष्ठियों का आयोजन किया जाएगा जिसमें सरस्वती का उद्भव, परिचर्चा के केंद्र में होगा। वहां डॉक्युमेंट्री फिल्में भी दिखाई जाएंगी। लोग प्रदर्शनी में लगी मूर्तियों की प्रतिकृतियां और पेंटिग्स आदि खरीद सकेंगे। गुप्ता ने बताया कि इलाहाबाद संग्रहालय ने अपने सेंट्रल हाल का आधुनिकरण करने की तैयारी की है। साथ ही हम अपनी चार गैलरी को भी आधुनिक करने जा रहे हैं जिसमें माडर्न पेंटिग्स, अस्त्र शस्त्र, टेक्सटाइल्स और डेकोरेटिव आर्ट्स की गैलरी शामिल है।

हवस की प्यास ऐसी की दरिंदे ने मानसिक रूप से कमजोर युवती को भी नहीं बख्शा 

उन्होंने बताया कि इलाहाबाद संग्रहालय ने आधुनिकीकरण के लिए सरकार से 10 करोड़ रुपए के बजटीय आबंटन की मांग की थी। हालांकि चार करोड़ रुपए स्वीकृत हुए हैं। उन्होंने कहा कि कुंभ तक संग्रहालय की सुरक्षा का जिम्मा सीआईएसएफ को देने के लिए उनके साथ बातचीत चल रही है। देश में राष्ट्रीय महत्व के चार संग्रहालय है जिनमें नई दिल्ली का राष्ट्रीय संग्रहालय, कोलकाता का इंडियन म्यूजियम, हैदराबाद का सालारजंग संग्रहालय और इलाहाबाद का इलाहाबाद संग्रहालय शामिल है।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.