टोल प्लाजा पर सैनिकों की तैनाती हमें बताए बगैर हुई : ममता

Samachar Jagat | Friday, 02 Dec 2016 07:09:53 AM
Army deployed in Bengal without informing the State Mamata

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को केंद्र सरकार पर राज्य को अंधेरे में रखकर राजमार्ग पर दो पथकर वसूली चौकियों (टोल प्लाजा) पर सेना की तैनाती करने का आरोप लगाया। रक्षा मंत्रालय ने इस आरोप से यह कहते हुए इनकार किया है कि यह एक वार्षिक अभ्यास है, जो पूरे देश में चल रहा है। यह अभ्यास आकस्मिक स्थिति में वाहनों पर कितना वजन लादा गया है, उनके आंकड़े सेना को उपलब्ध कराने के लिए है।

सुर्खियों में सबसे आगे रहीं भारतीय महिला खिलाड़ी, PM सबसे ज्यादा चर्चित नेता

तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता ने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव इस बारे में केंद्र सरकार को लिख रहे हैं और दिल्ली को कोलकाता से जोडऩे वाले राष्ट्रीय राजमार्ग दो पर डांकुनी और पालसित टोल प्लाजा पर कथित तौर पर सेना की तैनाती पर स्पष्टीकरण के लिए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मिलेंगी। बनर्जी ने यहां मीडिया से कहा,राज्य सरकार को सूचित किए बगर प्रदेश में सेना की तैनाती की गई है। यह बहुत संवेदनशील मुद्दा है। यह अस्वीकार्य है। हम इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं। ऐसा कभी नहीं हुआ था। उन्होंने जोर देकर कहा, हम लोग इसका विस्तृत ब्योरा चाहते हैं। संघीय स्वरूप बाधित हो गया है और लोकतंत्र को दूषित कर दिया गया है। क्या आपातकाल की घोषणा कर दी गई है। हम लोगों को कोई जानकारी नहीं है।

बेंगलुरु में सबसे बड़ी 4.7 करोड़ की नई करेंसी जब्त

बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा कि नागरिक कार्यो का संचालन राज्य को सूचित किए बगैर सेना नहीं कर सकती। उन्होंने इसे राजनीतिक प्रतिशोध का परिणाम बताया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति विषवमन जारी रखते हुए उन्होंने सवाल किया, क्या देश के अंदर किसी तरह का युद्ध छेडऩे की योजना है? सडक़ें हमारी हैं, हालांकि यह केंद्र के भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के तहत श्रेणीबद्ध है, लेकिन इसका प्रशासन राज्य की कानून-व्यवस्था से चलता है। उन्होंने कहा कि जनता को परेशान किया जा रहा है और उनके वाहनों को पथकर संग्रह चौकियों पर रोका जा रहा है।

इस बल्लेबाज ने की शास्त्री, युवी के रिकॉर्ड की बराबरी, 6 गेंद पर जड़े 6 छक्के

ममता ने कहा, जनता घबराई हुई है। यदि यह बंगाल के नागरिक इलाकों में हो रहा है तो यह बिहार में भी हो सकता है, अगला उत्तर प्रदेश है, उसके बाद तमिलनाडु है और अन्य राज्य भी हैं। यह बहुत गंभीर स्थिति है और यह आपातकाल से भी अधिक खतरनाक है। हम लोग अत्यंत काले दिन का सामना कर रहे हैं। बनर्जी के इस सनसनीखेज आरोप लगाने के तत्काल बाद रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि इस बारे में डरने जैसा कुछ भी नहीं है और यह अभ्यास सरकार के आदेश के अनुसार किया गया है। प्रवक्ता ने कहा कि पूर्वी कमान क्षेत्र में यह तीन दिवसीय अभ्यास किया जा रहा है और यह शुक्रवार को समाप्त हो जाएगा।

एंजो में दिखी स्टार पिता की झलक, डेब्यू मैच में किया कमाल



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.