भारत में ऊंच-नीच का अंतर समाप्त करना होगा: भागवत

Samachar Jagat | Thursday, 11 Jan 2018 07:42:14 PM
Bhagwat said difference between the high and low in India

विदिशा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत में गुरुवार को कहा कि भारत को जाति, पंथ, संप्रदाय एवं ऊंच-नीच का अंतर व्यावहारिक रूप से समाप्त करना होगा। भागवत मध्यप्रदेश के विदिशा में आदि शंकराचार्य की प्रतिमा के लिए धातु संग्रहण और जन-जागरण के उद्देश्य से आई ‘एकात्म यात्रा’ के जन-संवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

PSLV-C40 के प्रक्षेपण की उलटी गिनती शुरू

उन्होंने कहा कि लोगों को पंथ, संप्रदाय से ऊपर उठकर समतामूलक समाज बनाने हेतु व्यावहारिक रूप से कार्य करना होगा। आने वाले एक दशक में वेदांत दर्शन के साथ भारत फिर एक विश्व गुरु की भूमिका में होगा, इसके लिए लोगों के बीच सारे अंतर खत्म करने होंगे। उन्होंने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा एकात्म यात्रा के संचालन की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे संत महात्माओं के साथ मिलकर समाज को एक नई दिशा देने का कार्य कर रहे हैं। इसका अनुपालन करने पूरे समाज को मन कर्म वचन के साथ आगे आना होगा।

आतंकी अफजल गुरु के बेटे के 12वीं की परीक्षा में 82.2 प्रतिशत अंक

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आरएसएस को दुनिया का सबसे बड़ा संगठन बताते हुए लोगों को जातिगत भेदभाव और वर्ग भेद मुक्त समाज बनाने का संकल्प दिलाया। उन्होंने कहा कि 14 जनवरी को मकर संक्रांति के दिन से समतामूलक समाज बनाने हेतु वे एक नई शुरुआत करेंगे।

हनीप्रीत के मामले में सुनवाई 21 फरवरी तक स्थगित

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विकास कार्यों के साथ समाज के सांस्कृतिक और नैतिक उत्थान हेतु संकल्पित है। आदि गुरु शंकराचार्य के विकास के सिद्धांत को जन-जन तक पहुंचाकर सरकार वसुधैव कुटुंबकम की भारतीय संस्कृति के साथ जातिगत भेदभाव मिटाने हेतु संकल्पित है। कार्यक्रम को महामंडलेश्वर अखिलेश्वरानंद महाराज सहित देश के अनेक अंचलों से पधारे धर्मगुरुओं ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में आदि गुरु शंकराचार्य के प्रतीक स्वरूप बाल शंकराचार्यों की प्रस्तुति आकर्षण का केंद्र रही।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.