बिहार में शराब पर पाबंदी जारी रहेगी

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Jun 2018 11:53:19 AM
Bihar's liquor ban will continue

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि राज्य में शराबबंदी पर पाबंदी नहीं हटाई जाएगी और शराबबंदी लगातार जारी रहेगी । वे राज्य में हर प्रकार के नशे करने वाले पदार्थों पर रोक लगाने का मानस बना रहे हैं। अभी कुछ माह पूर्व खैनी पर शीघ्र ही पाबंदी लगाने के समाचार आए थे।

इस पर मुख्यमंत्री ने कहा है कि सरकार आबकारी कानून का गलत उपयोग करने की शिकायतों पर गंभीर हैं और इसमें कुछ संशोधन की तैयारी कर रही है।  नीतीश कुमार ने कहा कि गांधी के सामाजिक सुधार कार्यक्रम में शराबबंदी का उठाया कदम सरकार का अच्छा फैसला है। उनका कहना है कि इसमें सभी प्रकार के मादक पदार्थ खैनी (तंबाकू का एक प्रकार) को भी शामिल किया जाने का प्रस्ताव है।  खैनी पर प्रतिबंध लगने से जो लोग बेरोजगार होंगे उनके लिए भी सुविधा मुहिया कराई जाएगी।

 तीस हजार करोड़ रुपए पहुंचा किसानों के खातों में

 नीतीश ने बताया कि हम आबकारी कानून में संशोधन करने जा रहे हैं, लेकिन अभी में इसकी जानकारी नहीं दूंगा  कि  सरकार के कानूनी विशेषज्ञों ने आबकारी कानून में संशोधन के लिए क्या कर रहे हैं। साथ ही बताया कि 2 अक्टूबर , 2016 को जब सरकार नया आबकारी कानून लागू किया था तो यह कहा गया था कि यह कानू्रन काफी सख्त है। इसके बाद भी आबकारी कानून केे दुरुपयोग करने  की शिकायतें मिलती रहती हैं।

नीतिश ने बताया कि हमारी सरकार की मंशा है कि इस आबकारी कानून में यथोचित संशोधन करना चाहते हंै और हमने इसको लेकर उच्चतम न्यायालय का दरवाजा भी खटखटाया है। आबकारी कानून का दुरूप्रयोग पर अंकुश लगाने के लिए बदलाव लाया जा सकता है। यह काम हम कर सकते हैं लेकिन शराब पर रोक जारी रहेगी। उनका कहना था कि आमजन का शराब पीने से पूरा परिवार ही तबाह हो जाता है। गरीब लोगों के जीवन पर बहुत गहरा असर पड़ता है।

राजग सरकार में ही बिहार के हर विभाग के लिए बने बोर्ड-निगम :सुशील मोदी

 लोकसंवाद कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और नीतीश कुमार पत्रकारों के सवालों के जवाब दे रहे थे। उल्लेख है कि शराबबंदी को लेकर हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के अध्यक्ष  जीतन राम मांझी आबकारी कानून को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधते रहते हैं।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.