बुक्कल नवाब ने पिता की आत्मशांति के लिए किया हनुमान चालीसा का पाठ

Samachar Jagat | Sunday, 10 Mar 2019 08:56:01 AM
Bukkal Nawab recited Hanuman Chalisa for father's calmness

इंटरनेट डेस्क: बीजेपी एमएलसी के बुक्कल नवाब एक बार फिर से चर्चा में आ गए है उन्होंने अपने पिता की शांति के लिए हुनमान चालीसा का पाठ किया है, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है दरअसल ये वीडियो उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर भी शेयर किया है जानकारी के लिए बतादें की यूपी विधान परिषद में भारतीय जनता पार्टी के सदस्य बुक्कल नवाब ने हनुमान चालीसा का पाठ ही नहीं बल्कि उनका डे्रसअप भी धार्मिक रहा है आत्मा शांति के लिए किया गया ये इस पाठ का वीडियो उन्होंने सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर अपने पेज शेयर भी किया है जिसे देख हर कोई उन्हे प्रतिक्रया देते नजर आ रहे है

Old Post Image

आपकों बतादें की इस वीडियो में साफ  देखा जा सकता है की बीजेपी के सदस्य बुक्कल नवाब जिस मंच पर बैठे हैं, वह बिल्कुल हिंदू रीति.रिवाज से सजा हुआ है और किसी धार्मिक कार्यक्रम का भी हैै, इस दौरान लाल कपड़े से बने आसान पर भगवान हनुमान की तस्वीर भी रखी हुई है जहां बुक्कल नवाब भी भगवा वस्त्र धारण किए हुए हैं और वैसे आपकों बतादेंं की इससे पहले भी बुक्कल नवाब ने श्रीराम भक्त हनुमान के प्रति अपनी श्रद्धा को व्यक्त किया था, जिसके कारण भी वह कई दिनों तक सुर्खियों में रहे थे, दरअसल इससे पहले उन्होंने हनुमान की जाति पर मचे घमासान के बीच हुनमान को मुसलमान तक बता दिया था जिसके बाद उन्हे आलोचना का भी सामना करना पड़ा था, उस दौरान बुक्कल नवाब को कांग्रेस, समाजवादी पार्टी सहित अन्य पार्टियों ने उन पर जमकर निशाना साधा था

Old Post Image

उन्होंने भगवान हुनमान के बारे में बोलते हुए कहा था की मुसलमानों के नाम ही रहमान, सुल्तान, इमरान, जीशान, रेहान होते हैं, इसी तरह हनुमान नाम भी मुसलमान का है उन्होंने आगे बोलते हुए कहा की  हिंदुओं में आपको ऐसा कोई और नाम नहीं मिलेगा, सिर्फ  हनुमान नाम ही मिलेगा, इसलिए हनुमान मुसलमान थे उन्होंने कहा कि करीब 100 नाम ऐसे हैं, जो हनुमानजी पर ही आधारित हैं

Old Post Image

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.