केरल: बच्चे का खतना करना पडा महंगा, कट गया 75 प्रतिशत निजी अंग का हिस्सा

Samachar Jagat | Monday, 07 Jan 2019 05:51:04 PM
circumcision in Kerala child wounded during

तिरूवनंतपुरम। केरल के मानवाधिकार आयोग ने राज्य सरकार को खतना करने के दौरान बुरी तरह घायल हुए 23 दिन के एक बच्चे के परिवार को मुआवजा प्रदान करने को कहा है। चिकित्सकीय लापरवाही के कारण बच्चे का निजी अंग बुरी तरह घायल हो गया था।

एक बयान में केरल राज्य मानवाधिकार आयोग (केएसएचआरसी) ने कहा है उत्तरी मलप्पुरम जिले में एक अस्पताल में खतना के दौरान बच्चे के निजी अंग का 75 प्रतिशत हिस्सा कट गया। खतना करने वाले डॉक्टर को ऑपरेशन करने का महज तीन साल का तजुर्बा था।

जब प्रेमिका ने की 20 हजार रुपए की मांग, तो प्रेमी ने उठाया ये कदम

डॉक्टर के ज्यादा अनुभवी नहीं होने के कारण बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया। आयोग ने कहा कि जिस अस्पताल में बच्चे की सर्जरी हुई वहां पर सुविधाओं की घोर कमी थी। केएसएचआरसी के सदस्य पी. मोहनदास ने राज्य के मुख्य सचिव को बच्चे के परिवार को अंतरिम मुआवजे के तौर पर दो लाख रूपये देने का निर्देश दिया और राज्य के स्वास्थ्य विभाग से एक रिपोर्ट भी मांगी है।

बच्चों की सर्जरी के लिए अभिभावकों और डॉक्टरों के बीच और ज्यादा जागरूकता फैलाने के भी निर्देश दिए गए हैं। अपनी रिपोर्ट में स्वास्थ्य विभाग ने कहा था कि बच्चे के अभिभावक को उसके उपचार के लिए डेढ़ लाख रूपये से ज्यादा खर्च करना पड़ा। दक्षिणी राज्य सहित दुनिया भर में मुस्लिम समुदाय के बीच बच्चों का खतना कराने की प्रथा है। 

ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर भारत ने रचा इतिहास, जीती पहली बार टेस्ट श्रृंखला

ऐतिहासिक जीत के बाद विराट कोहली ने ऐसे की खुशी जाहिर, कहा-ये मेरी.... 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.