सीएम रघुवर दास बोले, वन संरक्षण के कार्य में जनभागीदारी बढ़ाएं

Samachar Jagat | Tuesday, 25 Sep 2018 10:34:11 AM
CM Raghuvar Das said, Increase public participation in forest conservation work

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

रांची। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सोमवार को वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि बरसात के बाद पूरे राज्य में जनभागीदारी के साथ बांस रोपण का अभियान शुरू करें जिससे हाथियों को भोजन भी मिलेगा और लोगों को रोजगार भी मिलेगा।


बारिश से सराबोर हुआ उत्तर भारत, 11 लोगों की मौत, पंजाब में 'रेड अलर्ट’

दास झारखंड राज्य वन्य जीव बोर्ड की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि साहेबगंज के पास गंगा नदी में डॉल्फिन भी पाई जा रही हैं। इनका संरक्षण करें और इसे पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित कीजिए। स्थानीय मछुआरों को प्रशिक्षित कर इनके संरक्षण के प्रति जागरूक करें।

झारखण्ड मंत्रालय में आयोजित इस बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में वन्य प्राणियों पर शोध के लिए एक फंड बनाया जाएगा। वन संरक्षण के कार्य में जनभागीदारी और जनसहयोग को बढ़ाएं। जिन लोगों रूचि है, वे इससे जुड़ेंगे, तो इसका सकारात्मक परिणाम दिखेगा।

पलामू टाइगर रिजर्व के लिए मुख्यमंत्री ने अभी 2 पर्यटक वाहन चलाने का निर्देश देते हुए कहा कि मांग बढ़े, तो वाहन बढ़ाएं। राज्य सरकार पर्यावरण के अनुकूल विकास की पक्षधर है। विकास और पर्यावरण में  संतुलन बनाकर काम करने की जरूरत है।

विकास होने से ही लोगों की सामाजिक और आर्थिक प्रगति होगी। बैठक में दलमा वन्यप्राणी आश्रयणी के इको सेंसिटिव जोन में रढ़गांव-महुलिया उच्च पथ, मंडल डैम, कोडरमा वन्य प्राणी आश्रयणी अंतर्गत ध्वजाधारी पहाड़ के समय नेचर एंड वाइल्ड अवेयरनेस सेंटर और मंदिर पथ पर रेलिंग के निर्माण समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई।

राफेल सौदे पर फिर बोले राहुल, कहा-मोदी ने गरीबों से पैसा छीना और अनिल अंबानी को सौंपा

बैठक में मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी, वन एवं पर्यावरण विभाग के अपर मुख्य सचिव इंदुशेखर चतुर्वेदी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सुनील कुमार वर्णवाल, प्रधान मुख्य वन संरक्षक संजय कुमार सहित बोर्ड के सदस्य उपस्थित थे।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.