तीन पाकिस्तानी समेत लश्कर ए तैयबा के आठ सदस्यों को आजीवन कारावास की सजा

Samachar Jagat | Wednesday, 06 Dec 2017 04:18:51 PM
Eight members of Lashkar-e-Toiba including three Pakistanis life sentence

जयपुर। जयपुर की एक स्थानीय अदालत ने राष्ट्र विरोधी गतिविधियों के लिए लोगों को भर्ती करने के मामले में दोषी पाए गए तीन पाकिस्तानी नागरिकों सहित लश्कर ए तैयबा के आठ सदस्यों को आज आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।

पड़ोसी ने 13 वर्षीय बच्ची के साथ किया दुष्कर्म

पिछले सप्ताह अदालत ने आरोपियों को विधि विरूद्व क्रियाकलाप निवारण अधिनियम की धारा 13 (गैरकानूनी गतिविधियों को बढ़ावा देना), धारा 18 (साजिश के लिए सजा), धारा 18 बी (आतंक के लिए भर्ती)और धारा 20 (आतंकवादी गिरोह या संगठन का सदस्य होने के लिए सजा) के तहत दोषी माना था।

नशे में चूर रिक्शा चालक ने मासूम बच्ची के साथ किया ये...

मामले की पैरवी कर रहे विशेष लोक अभियोजक महावीर जिंदल ने संवाददाताओं को बताया कि जयपुर के अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय ने आज आरोपियों को विधि विरूद्व क्रियाकलाप निवारण अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत सजा और तीन-तीन लाख रपये के आर्थिक दंड की सजा सुनाई है।

राजस्थान के आतंकवाद विरोधी दस्ते (एटीएस) ने इन सभी लोगों को वर्ष 2010 और 2011 में गिरफ्तार किया था। पाकिस्तानी संगठन लश्कर-ए- तैयबा के सदस्यों असगर अली, शेखर उल्ला और शाहिद इकबाल भारत की विभिन्न जेलों में बंद रहे। इन्होंने राष्ट्र विरोधी गतिविधियों के लिये पांच भारतीयों -बाबू उर्फ निशाचंद अली, हाफीज अब्दुल, पवन पुरी, अरूण जैन और काबिल की भर्ती की थी।

बाबू और पवन पुरी बीकानेर जेल में असगर अली के सम्पर्क में आये जबकि अरण बाबू का दोस्त था। काबिल पंजाब जेल में शाहिद इकबाल से जुड़ा है। सभी लोग पाकिस्तान में रह रहे लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर के साथ मोबाइल के जरिये जुड़े थे। केन्द्रीय खुफिया एजेंसियों से मिले अलर्ट के आधार पर राजस्थान की एटीएस ने वर्ष 2010 में जेलों में बंद संगठन के लोगों और पाकिस्तान में लश्कर के कमांडर के बीच फोन की बातचीत को पकड़ा था। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.