आदर्श नगर में बीजेपी प्रत्याशी के घर मिली ईवीएम मशीन , जानिए क्या है सच

Samachar Jagat | Saturday, 08 Dec 2018 05:05:17 PM
EVM machine gets BJP candidate in Rajasthan fake news

जयपुर। राजस्थान विधानसभा को लेकर शुक्रवार को ही मतदान हुए है। जहां एक और दोनों बड़ी पार्टिया चुनाव जीतने और सत्ता बनाने की बाते कह रही है। वहीं सोशल मीडिया पर भी फेक न्यूज और वीडियो वायरल होने लगे है। कुछ लोग इन वीडियो और न्यूज को संच मान रहे हैं, लेकिन इसकी सच्चाई क्या है ये सिर्फ कुछ लोग ही जानते हैं।

धर्मेंद्र ने एक बार फिर यहां किया कमबैक

कुछ ऐसा ही एक वीडियो कल मतदान के बाद वायरल हुआ है। यहीं नहीं फेसबुक के अलावा ट्विटर पर भी ये वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक घर से ईवीएम और वीवीपेट मशीने पाई गई है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ है।

एग्जिट पोल से साफ संकेत मिल रहे हैं लोग कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं : पायलट

इस वीडियो में एक शख्स कह रहा है कि ‘नमस्कार दोस्तों मैं खड़ा हूं आदर्श नगर, स्थानीय विधायक ज्ञानचंद पारख जी के वार्ड में, और मदनजी राठौर भाईसाब के घर के पास ईवीएम मशीनें पाई गई हैं। एक निजी घर में ईवीएम मशीनें कैसे आ गईं। इसके बाद वहां हंगामा हो रहा है। इस वीडियो के वायरल होने के बाद कई लोगों ने इस पर विश्वास किया है। यहीं नही आम आदमी पार्टी के नेता अंकित लाल ने भी वीडियो ट्वीट किया है जिसे अरविंद केजरीवाल ने रिट्वीट किया। 

राजस्थान में पंद्रहवीं विधानसभा के लिए 74. 12 प्रतिशत मतदान

ये है सच्चाई: सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस वीडियो सच्चाई यह है कि ये वीडियो जयुपर का नहीं बल्कि पाली का मामला है। जानकारी के अनुसार ये मशीनें आदर्श नगर में चुनाव ड्यूटी में तैनात महिला अफसर के यहां से मिली हैं। 6 दिसंबर की दोपहर रिजर्व ईवीएम के लिए सेक्टर प्रभारियों की नियुक्ति हुई. रिजर्व ईवीएम वो होती है जो मेन ईवीएम में कुछ खराबी आने पर इस्तेमाल की जाती है। लेडी सेक्टर प्रभारी को ईवीएम और गाड़ी सौंप दी गई। अफसर का मकान आदर्श नगर में पड़ता है।

जनाक्रोश रैली के बहाने शिवपाल दिखएंगे दमखम

जीप में ईवीएम भरकर वहां चली गईं। वहां लोगों को इसकी भनक लगी तो हंगामा हो गया और यह वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया गया। जब वहां हंगामा हुआ तो बाकी अफसर वहां पहुंचे और मशीने कब्जे में ले लीं। मीडिया रिपोट्र्स के अनुसर इस मामले में जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा है कि किसी इमरजेंसी के चलते लेडी अफसर घर गई थीं। मशीनों से भरी जीप बाहर खड़ी थी। सभी सुरक्षित मिली हैं। लेडी अफसर की कोई गलत मंशा भी सामने नहीं आई है। उधर वीडियो वायरल हुआ तो बीजेपी प्रत्याशी ज्ञानचंद पारख के चुनावी वकील जगदीश सिंह ने ट्रांसपोर्ट नगर थाने में रिपोर्ट लिखवाई है। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा है कि वीडियो फैलाकर बताया जा रहा है कि बीजेपी प्रत्याशी के घर में मशीन बरामद की गई, जबकि ऐसा है नहीं. ये सिर्फ मुझे बदनाम करने की साजिश है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.