किसानों के नाम सार्वजनिक होने से भाजपा को देते नहीं बन रहा जवाब : कमलनाथ

Samachar Jagat | Thursday, 09 May 2019 03:25:45 PM
Farmers' names are public, so BJP does not have a reply

सबलगढ़, (मुरैना)। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किसानों के कर्ज माफ करने को लेकर भारतीय जनता पार्टी नेताओं पर असत्य बोलने का आरोप लगाते हुए कहा कि 21 लाख किसानों के नाम सार्वजनिक होने के बाद इनके नेताओं से जवाब देते नहीं बन रहा है।

कमलनाथ ने आज मुरैना संसदीय क्षेत्र के सबलगढ़ में कांग्रेस प्रत्याशी रामनिवास रावत के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 75 दिनों में ही 21 लाख किसानों के कर्ज माफ किये। इसके बाद चुनाव की आदर्श आचार संहिता लगने के कारण काम बंद हो गया था, लेकिन समाप्त होने के साथ ही कर्जमाफी का काम फिर शुरू हो रहा है।

इसके बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी कर्ज माफ नहीं होने की बात करते हुए लोगों में भ्रम फैला रहे थे। अब खुलासा हो गया है कि चौहान के गृह गांव जैत में भी किसानों के कर्ज माफ हुए हैं। चौहान के भाई और अन्य परिजनों के भी ऋण माफ हुए हैं। यदि चौहान में हिम्मत है तो वे इसका खंडन करके दिखाए।

उन्होंने आरोप लगाया कि दरअसल भाजपा नेताओं को असत्य बोलने की आदत ही है। अब उन्हें समझना चाहिए कि जनता बहकावे में आने वाली नहीं है। एजेंसी

इंडिगो को चीन के बाजार में प्रवेश की अनुमति का इंतजार

गौरी लंकेश हत्याकांड में प्रज्ञा की भूमिका से एसआईटी का इंकार



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.