जिंदगी का अनोखा खेल! पहले विदा हुई बेटी की डोली, फिर निकली पिता की अर्थी 

Samachar Jagat | Saturday, 12 May 2018 11:05:20 AM
Father death on daughter wedding

बैतूल। मध्यप्रदेश के बैतूल जिले के मुलताई थाना क्षेत्र में बेटी की शादी के दिन अचानक पिता की मौत हो गई। बारात घर के द्वार पर खडी थी और बारात को वापस नहीं जाना चाहिए, ऐसी विपरीत परिस्थिति में गांव के लोगों ने अपना फर्ज निभाते हुए बेटी का कन्यादान कर उसका विवाह संपन्न करवाया।

कर्नाटक विस चुनाव: मतदान जारी, PM मोदी ने की मतदाताओं से अपने मताधिकार का प्रयोग करने की अपील

बताया गया है कि रायसेडा निवासी राजेराम धुर्वे की बेटी का विवाह कल होना तय था, लेकिन गुरुवार रात राजेराम की अचानक तबीयत खराब हो गई, जिसे परिजनों द्वारा रात में ही मुलताई के पारेगांव रोड स्थित एक निजी क्लिनिक में भर्ती किया गया। इसके बाद उसकी तबियत पर थोडा सुधार होने पर घर लाया गया।

मोदी ने नेपाल के मुक्तिनाथ मंदिर में की पूजा-अर्चना 

शुक्रवार सुबह फिर उसकी तबियत बिगड गई। उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, वहां पहुंचने से पहले ही राजेराम ने दमतोड दिया था। दोपहर लडकी की बारात उसके दरवाजे पर पहुंच गई। ग्रामीणों ने बारात वापस नहीं लौटे, ऐसे में गांव के लोगों ने अपना फर्ज निभाते हुए बारात का स्वागत किया और लडकी का कन्यादान कर उसका विवाह कार्य संपन्न कराया। वार्ता 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.