एमटीएनएल इमारत में आग, सभी 84 लोगों को सुरक्षित बचाया गया

Samachar Jagat | Tuesday, 23 Jul 2019 11:22:26 AM
Fire in MTNL building, all 84 people were saved safely

मुंबई। मुंबई में सोमवार को एमटीएनएल इमारत में आग लग गई, जिससे नौ मंजिला इमारत में 84 लोग फंस गये। हालांकि इन सभी लोगों को दमकलकर्मियों ने सुरक्षित बचा लिया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

यह अभियान हाल के समय में मुंबई के दमकलकर्मियों के सबसे बड़े अभियानों में से एक है। अधिकारियों ने बताया कि मुंबई के उपनगर बांद्रा स्थित इस इमारत में आग दोपहर में करीब तीन बजे लगी। इमारत में सरकारी दूरसंचार कंपनी एमटीएनएल का कार्यालय है। हालांकि इमारत में फंसे सभी लोगों को शाम तक सुरक्षित निकाल लिया गया।

मुंबई दमकल विभाग के प्रमुख पी एस रहंगदले ने बताया कि एमटीएनएल के अधिकारियों के अनुसार सभी की पहचान कर ली गयी है और कोई लापता नहीं है लेकिन तलाश अभियान अब भी जारी है। रहंगदले ने बताया कि अभियान में करीब 150 अधिकारी और कर्मी लगे हुए हैं। करीब 160 ऑक्सीजन सिलेंडर का इस्तेमाल हुआ और इमारत के विभिन्न हिस्सों से 100 लोगों को बचाया गया जिनमें 84 वहाँ छत पर फंसे हुए थे।

उन्होंने कहा, ‘‘भारत में हाल के समय में यह अब तक का सबसे बड़ा और सफल बचाव अभियान था।’’ वहीं 25 वर्षीय एक दमकल कर्मी सागर साल्वे अभियान के दौरान धुएं की चपेट में आ गए। इसके बाद उन्हें भाभा अस्पताल में भर्ती किया गया। उनकी हालत स्थिर है और खतरे से बाहर है।

इससे एक दिन पहले ही दक्षिणी मुंबई में स्थित प्रसिद्ध ताज महल पैलेस होटल के पीछे स्थित एक चार मंजिला आवासीय इमारत में आग लग गई थी। इसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और दो अन्य झुलस गये थे। एक अधिकारी ने बताया कि अग्निशमनकर्मी इमारत में ऑक्सीजन मास्क और सर्चलाइट से लैस होकर घुसे हैं। पहली बार एक नए तरह का रोबोट रोबोफायर का इस्तेमाल आग पर काबू पाने के अभियान में किया गया।

सुरक्षित बाहर निकाले गए लोगों ने बताया कि कामकाज का दिन होने की वजह से ज्यादा लोग इमारत में थे। इनमें से ज्यादातर एमटीएनएल के कर्मचारी ही थे। अधिकारी ने बताया कि आग तीसरी और चौथी मंजिल से शुरू हुई थी जिसके बाद लोग घबराई हुई स्थिति में इमारत से बाहर निकलने की कोशिश में लग गए थे। जो लोग ऊपरी मंजिल पर थे, वह खुद को बचाने के लिए छत पर पहुंच गए। इसके बाद छत पर फंसे सभी 84 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

उन्होंने बताया कि दमकल के 14 वाहनों, एक रोबोफायर, एक एम्बुलेंस, एक हवाई सीढ़ी समेत अन्य उपकरण आग को बुझाने और लोगों को बाहर निकालने के काम में लगाए गए। अधिकारी ने बताया कि हवा तेज होने और धुएं की मोटी चादर होने से अग्निशमन कॢमयों को आग पर काबू पाने में चुनौतियों का सामना करना पड़ा। आग की वजह से निकट की इमारत भी प्रभावित हुई। हालांकि आग लगने के पीछे का वास्तविक पता अभी तक नहीं चला है।

पिछले एक दशक में मुंबई में आग से जुड़ी 49,000 घटनाएं हो चुकी हैं और 600 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र सरकार ने विधानसभा में 2018 में यह जानकारी दी थी। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.