चार दिवसीय ज्वैलरी प्रदर्शनी छह अप्रैल से

Samachar Jagat | Tuesday, 02 Apr 2019 09:17:34 AM
Four-day jewelery exhibition from April 6

जयपुर। रत्नों की चमक और ज्वैलरी की दमक के साथ देश के शीर्ष ज्वैलरी शो में शुमार ज्वैलर्स एसोसिएशन जयपुर द्वारा आयोजित चार दिवसीय ’’ज्वैलरी शो (जस-19) का आगाज 6 अप्रेल को प्रात: 10:30 बजे सीतापुरा स्थित एग्जीबिशन एण्ड कन्वेन्शन सेन्टर में होगा।

एग्जीबिशन के अध्यक्ष संजय काला व सचिव डी.पी. खण्डेलवाल ने बताया कि वैदिक ग्रथों में पौराणिक काल से रत्नों के महत्व को दर्शया गया है, इन्हीं रंगीन रत्नों की पावर और इफेक्ट के बारे में जानकारी देने के लिए इस शो की थीम ’’रीयल इज रेयर‘‘ यानी असली का दुर्लभ अस्तित्व रखी गई है। इसके पीछे उद्देश्य यह है कि जैमस्टोन सदियों से मानव जीवन को ब्रहमांड में अपनी विशाल रहस्यमयी शक्तियों के साथ जोड़ रहा है साथ ही प्राकृतिक स्टोन अद्वितीय गुण रखता है जो मानव भाग्य को प्रभावित करता है।

रत्न लम्बे समय तक संस्कृतियों और युगों से पूजनीय भी रहे हैं जिसके कारण इन दुर्लभ पत्थरों के आकर्षण से बच नहीं सकता है। स्टोन का सौंन्दर्य, प्रतिष्ठा, शक्ति और चिकित्सा में महत्वपूर्ण स्थान माना गया है। सदियों से जैमस्टोन हुमेन लाइफ से कैसे कनेक्ट रहा है इनकी रहस्यमयी पावर, ग्रह और ज्योतिषी प्रभाव के बारे में विस्तृत रूप से इस शो में जानकारी दी जायेगी।

उन्होंने बताया कि जस-19 में पहली बार शो का पहला दिन पूरी तरह से ट्रैड विजीटर्स के लिये होगें इसके लिये भारत के विभिन्न शहरों के ख्यातनाम व्यापारियों से सम्पर्क कियाजा रहा है तथा उनके ठहरने की व्यवस्था भी जयपुर के पाँच सितारा होटल में की जा रही है। 
उन्होंने बताया कि जस-19 अन्र्तराष्ट्रीय स्तर का ट्रेड शो का पहला दिन पूरी तरह बायर्स टु बायर्स (बीटुबी) पर फोकस रहेगा। 

यहां युएसए, हांगकांग, थाइलेण्ड, जापान, जर्मनी, दुबई, चाइना इत्यादि के अलावा राज्य के समस्त शहरों सहित अहमदाबाद, जुनागढद्व, बडोदरा, सूरत, मुम्बई, देहली, पुणे, कोल्हापुर, चंडीगढ़, इन्दौर, रतलाम, बैंगलुरू, कोलकाता, लखनऊ, कानपुर, हैदराबाद सहित अन्य व सीमावर्ती राज्यों के क्रेता-विक्रेता यहां तक आर्टीजन्स, डिजायनर्स, दलाल आदि का प्रतिनिधित्व रहेगा। अभी तक ऑनलाइन व ऑफलाइन द्वारा 3000 से अधिक जयपुर के बाहर के ट्रेड विजीटर्स ने रजिस्ट्रेषन करवा लिया है। इसके अलावा शहर के भी 4000 से अधिक ट्रेड विजीटर्स के आने की संभावना से काफी बढ़े बाजार की आशा है।

उन्होंने बताया कि जस का आयोजन पहली बार अगस्त की बजाय अप्रेल में किया जा रहा है इसकी कई वजह रही हैं। अप्रेल से शादियों का सीजन शुरू हो जायेगा। इस शो के दौरान देश-विदेश में कोई और बड़ा ज्वैलरी शो भी नहीं है, साथ ही नया वित्त वर्ष शुरू होने का भी लाभ मिलेगा जबकि इस शो के बाद कई ज्वैलरी शो होने से जौहरियों के लिये कारोबारी रूप में जस-19 का अप्रेल में होना फायदेमंद देखा जा रहा है। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.