प्रयागराज में गंगा और यमुना का तेजी से बढ़ रहा जलस्तर

Samachar Jagat | Saturday, 17 Aug 2019 03:59:31 PM
Ganga and Yamuna water levels rising rapidly in Prayagraj

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश पिछले दिनों हो रही भारी बारिश और बैराजों से छोड़े जा रहे पानी से प्रयागराज में गंगा-यमुना नदी के जलस्तर लगातार बृद्धि दर्ज की गयी है।


आधिकारिक सूत्रों ने शनिवार को यहां बताया कि यमुना की सहायक नदियां केन, बेतवा और उसकी सहायक नदी थसान में बांधों से बड़ी मात्रा में पानी छोड़े जाने से यमुना नदी का जलस्तर शनिवार की सुबह आठ बजे तक प्रयागराज के नैनी में 78.40 मीटर तक पहुंच गया है। फाफामऊ में गंगा नदी में 78.81 मीटर और छतनाग में 77.70 मीटर पर बह रही है। खतरे का निशान 84.734 मीटर पर दर्ज है। 

सिंचाई विभाग बाढ़ खण्ड के अधिशाषी अभियंता बृजेश कुमार ने बताया कि पिछले तीन दिनों से कानपुर बैराज से एक लाख क्यूसेक (फ्लोरेट) से अधिक जल डिस्चार्ज किये जाने के कारण गंगा के पानी में बढोत्तरी हो रही है। यमुना की सहायक नदियां केन, बेतवा और उसकी सहायक नदी थसान में बांधों से बड़ी मात्रा में जल छोड़े जाने से यमुना नदी में जलस्तर बढऩे लगा है। 

उन्होने बताया कि तीथर्राज प्रयाग में गंगा और यमुना का जलस्तर तेजी से खतरे के निशान बिन्दु की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। खतरे का निशान 84.734 मीटर पर दर्ज है। फाफामऊ में गंगा का जलस्तर 78.81, छतनाग में 77.70मीटर दर्ज किया गया है जबकि नैनी में यमुना का जलस्तर 78.80 मीटर तक पहुंच गया है। 

गौरतलब है कि शुक्रवार को बेतवा नदी में माताटीला बांध से 4.30 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया। वहीं बेतवा की सहायक नदी थसान में लाचूरा बांध से 84400 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इससे हमीरपुर में बेतवा नदी का जलस्तर 41सेंटीमीटर प्रतिघंटा की गति से बढ़ रहा है। 

इसी जिले में यमुना का जलस्तर 25 सेंटीमीटर प्रति घंटे की गति से बढ़ रहा है। शाम चार बजे हमीरपुर में बेतवा का जलस्तर 94.40 मीटर और यमुना का जलस्तर 96.60 मीटर हो गया था।वहीं केन नदी में मध्य प्रदेश के बरियारपुर बांध से 2.18 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। 

बढते जलस्तर के मद्देनजर जिला प्रशासन एवं एनडीआरएफ ने अपनी तैयारिया शुरू कर दी है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की एक टीम लेखपाल ट्रेनिंग स्कूल करेली में कैंप कर रही है। 

एनडीआरएफ की टीम एसडीएम सदर गौरव रंजन श्रीवास्तव और तहसीलदार सदर अरविंद कुमार मिश्र के साथ प्रयागराज शहर के बाढ़ संभावित क्षेत्रों का दौरा किया। टीम ने मऊ कछार, द्रोपदी घाट, बक्शीबाध, छोटा बघाड़ा, बलुआघाट, चाचर नाला और गौस नगर का दौरा किया। इसके अलावा बाढ़ चौकियों का निरीक्षण भी किया। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.