ओडिशा में आश्रय गृह की लड़कियों ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप, प्रभारी गिरफ्तार

Samachar Jagat | Sunday, 02 Dec 2018 10:57:10 AM
Girls in shelter home in Odisha accused of sexual harassment

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

ढेंकनाल/भुवनेश्वर। ढेंकनाल शहर के बाहरी क्षेत्र में स्थित एक आश्रय गृह में रहने वाली नाबालिग लड़कियों ने इसके प्रभारी पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है, जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। ओडिशा महिला एवं बाल विकास मंत्री प्रफुल्ल समल ने बताया कि यह निजी आश्रय गृह पंजीकृत नहीं है और इसे गैरकानूनी रूप से चलाया जा रहा है।


पुलिस ने बताया कि यह मामला उस वक्त प्रकाश में आया, जब हाल ही में कुछ लड़कियों ने मीडिया से बातचीत में  आश्रय गृह के प्रभारी पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया। लड़कियों ने कहा था कि प्रभारी सीमांचल नायक पिछले दो साल से उनका यौन उत्पीड़न कर रहा है, उन्हें शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहा है।

उन्होंने डर और शर्म की वजह से किसी को यह बात नहीं बताई। ढेंकनाल के उपमंडल पुलिस अधिकारी अब्दुल करीम ने कहा कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है और आश्रय गृह के मालिक एवं प्रबंध निदेशक फैयाज रहमान को पकड़ने के प्रयास जारी हैं।

पुलिस ने कहा कि आश्रय गृह में 94 लोगों के रहने की क्षमता है। अभी यहां 47 लड़कियां और 34 लड़के रह रहे हैं। जिला बाल कल्याण समिति के सदस्य निरंजन मिश्रा ने बताया कि लड़के और लड़कियों की आयु पांच से 16 वर्ष के बीच है।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि मीडिया में आई खबरों पर कार्रवाई करते हुए जिला बाल संरक्षण अधिकारी अनुराधा गोस्वामी और जिला बाल कल्याण समिति के सदस्यों ने ढेंकनाल शहर के बाहरी इलाके बेलटिकरी स्थित आश्रय गृह पर शुक्रवार को छापा मारा था।

उन्होंने बताया कि गोस्वामी ने इस संबंध में सदर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। नायक को गिरफ्तार कर लिया गया है। मंत्री समल ने कहा कि इस आश्रय गृह की राज्य में 22 शाखाएं हैं और संबंधित जिलाधीशों को इनकी जांच करने और उन्हें बंद करने के लिए कहा गया है।

डीसीपीओ गोस्वामी ने बताया कि आश्रय गृह ने जुवेनाइल जस्टिस कानून के प्रावधानों का उल्लंघन किया और वह बेलटिकरी में एकांत स्थान पर गैरकानूनी रूप से चल रहा है। नायक ने लड़कियों द्बारा उनके खिलाफ लगाए आरोपों से इनकार कर दिया है और कहा कि लड़कियों ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि वह आश्रय गृह में अनुशासन लागू करने की कोशिश कर रहे थे। भाजपा की प्रदेश ईकाई के अध्यक्ष बसंत पांडा ने कहा कि पार्टी का एक दल आश्रय गृह जाएगा और वहां रहने वाले बच्चों तथा कर्मचारियों से बात करेगा।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.