गुर्जर नेताओं की सरकारी प्रतिनिधियों के साथ वार्ता विफल, गतिरोध जारी

Samachar Jagat | Sunday, 10 Feb 2019 10:00:06 AM
Gujjar leaders fail to negotiate with government representatives

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

जयपुर। पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर आंदोलनकारियों और सरकारी प्रतिनिधिमंडल के बीच बातचीत के बाद भी शनिवार को गतिरोध जारी रहा। गुर्जर समाज को आरक्षण देने की मांग को लेकर अपने समर्थकों के साथ सवाईमाधोपुर के मलारना डूंगर रेल पटरियों पर बैठे गुर्जर नेता किरोडी सिंह बैंसला ने मुद्दे का हल निकालने के लिए पहुंचे सरकारी प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के बाद भी रेल पटरियों से हटने के मना कर दिया है।


दूसरे दिन जारी रहे गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते उत्तर-पश्चिम रेलवे प्रशासन ने शनिवार को तीन सवारी गाड़ियों को रद्द कर दिया और एक सवारी गाड़ी के मार्ग में परिवर्तन किया है जबकि पश्चिम मध्य रेलवे ने पिछले दो दिनों में करीब 200 सवारी और एक्सप्रेस रेल गाडियों को रद्द/ आशिक रूप से रद्द/ मार्ग परिवर्तन किया है।

इस मुद्दे पर राज्य सरकार द्बारा गठित की गई कमेटी के सदस्य पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह और भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी नीरज के पवन आज गुर्जर नेता किरोडी सिंह बैंसला से सवाईमाधोपुर के मलारना डूंगर की रेल पटरियों पर वार्ता के लिए मिले लेकिन बैंसला अपनी मांग पर अड़े रहे। गुर्जर आरक्षण समिति के संयोजक किरोडी सिंह बैंसला ने कहा कि हम यहां से नहीं हटेंगें, धरना जारी रखेंगे, सरकार से कोई समझौता नहीं हुआ है।

हम पांच प्रतिशत आरक्षण का आदेश चाहते है। उन्होंने कहा कि गुर्जर समुदाय को पांच प्रतिशत आरक्षण देने का सरकार ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया है इसलिये सरकार का दायित्व बनता है कि वह हमें आरक्षण दें। गुर्जर नेता विजय बैंसला ने बताया कि गुर्जर समुदाय को पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर हम पिछले बीस दिनों से सरकार की ओर से बातचीत का इंतजार कर रहे है।

उन्होंने बताया कि गुर्जर आरक्षण आंदोलन के दूसरे दिन आंदोलनकारियों ने जयपुर-दिल्ली, जोधपुर-भीलवाडा और अजमेर-भीलवाडा राजमार्ग को अवरूद्ब किया है। उत्तर-पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी अभय शर्मा ने बताया कि गुर्जर आरक्षण आंदोलनकारियों के सवाईमाधोपुर रेल खंड पर पटरियों पर बैठने के कारण शनिवार को दूसरे दिन ट्रेन संख्या 12918 हजरत निजामुद्दीन-अहमदाबाद, ट्रेन संख्या 12963 हजरत निजामुद्दीन-उदयपुर, ट्रेन संख्या 12964 उदयपुर-निजामुद्दीन को रद्द किया गया है।

वहीं ट्रेन संख्या 19024 फिरोजपुर केंट-मुंबई सेंट्रल को रेवाडी-फुलेरा,चंदेरिया-रतलाम मार्ग की जगह आगरा कैंट-झांसी-बीना जंक्शन मार्ग होकर निकाला जा रहा है। पश्चिम मध्य रेलवे के प्रवक्ता विजय प्रकाश ने बताया कि गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते पिछले दो दिनों में करीब 200 सवारी/एक्सप्रेस गाड़ियों को रद्द/ आंशिक रूप से रद्द/ मार्ग परिवर्तन करना पडा है। 
पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) एम एल लाठर ने बताया कि गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते राज्य में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये गये है। राज्य में कहीं से भी किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है।

उन्होंने बताया कि सरकार द्बारा गठित कमेटी की गुर्जर नेताओं की बैठक के बाद गतिरोध जल्द खत्म हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि गुर्जर समाज सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्‍थानों में प्रवेश के लिए गुर्जर, रायका रेबारी, गडिया, लुहार, बंजारा और गड़रिया समाज के लोगों को पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहा है। वर्तमान में  अन्‍य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के अतिरिक्‍त 50 प्रतिशत की कानूनी सीमा में गुर्जरों को अति पिछड़ा श्रेणी के तहत एक प्रतिशत आरक्षण अलग से मिल रहा है। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.