ओडिशा और राजस्थान में भारी बारिश, वडोदरा में हालात सामान्य होने लगे

Samachar Jagat | Saturday, 03 Aug 2019 11:58:24 AM
Heavy rains in Odisha and Rajasthan, conditions started normalizing in Vadodara

नई दिल्ली। ओडिशा और राजस्थान में भारी बारिश के बाद जलभराव की समस्या उत्पन्न हो गयी है, वहीं गुजरात के बारिश प्रभावित वडोदरा शहर में विश्वमित्री नदी के जलस्तर में शुक्रवार को गिरावट के बाद हालात सामान्य हो रहे हैं।


loading...

गुजरात के वडोदरा और आसपास के क्षेत्रों से 5,700 से अधिक लोगों को बाहर निकाला गया है। ये सारे इलाके बाढ़ की चपेट में हैं। राज्य के अधिकारियों ने कहा कि अहमदाबाद और सूरत के बाद राज्य के तीसरे सबसे बड़े शहर वडोदरा में बारिश से संबंधित घटनाओं में छह लोगों की मौत हुई है। यहाँ 24 घंटे में लगभग 500 मिमी बारिश होने से कई इलाके जलमग्न हैं।

बाढ़ के पानी के साथ मध्यम आकार के सात मगरमच्छ वडोदरा के आवासीय क्षेत्रों में पहुंच गये, जिन्हें वन विभाग के अधिकारियों ने दो दिनों के भीतर पकड़ लिया। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने एक ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्य के बाढ़ के हालात को लेकर उनके साथ फोन पर चर्चा की और केन्द्र की ओर से मदद का आश्वासन दिया। 

वहीं, ओडिशा में निचले इलाकों में बारिश का पानी भर गया है और मलकानगिरि जिले में सड़क संपर्क टूट गया है। बाढ़ जैसे हालात के चलते जिला प्रशासन ने दो दिन तक स्कूलों को बंद रखने का निर्देश दिया है। मलकानगिरि में बीते 24 घंटे में 115.86 मिमी बारिश हुई है। भुवनेश्वर में एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। 

असम में हालात जस के तस हैं। राज्य में दो और लोगों की मौत हो गई जिससे मृतकों की संख्या बढक़र 88 हो गई है। बाढ़ से राज्य के 12 जिलों में 1,65,763 लोग प्रभावित हुए हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के बुलेटिन में यह बात कही गई है। अधिकांश नदियों में जल स्तर कम होने लगा है। 

मौसम विभाग के मुताबिक ने दिल्ली में अगले तीन दिन के दौरान हल्की से मध्यम स्तर की होने का अनुमान जताया है। राष्ट्रीय राजधानी में इस मौसम में एक भी बार तेज बारिश नहीं हुई है। वहीं राजस्थान के जल संसाधन विभाग ने शुक्रवार को कहा कि अभी तक राजस्थान के किसी भी जिले में ’’खराब’’ बारिश नहीं हुई है।

राजस्थान के दस जिलों में इस मॉनसून में ’’अधिक’’ वर्षा दर्ज की गई है, 14 जिलों में ’’सामान्य’’ और सात में ’’कम’’ बारिश हुई है। अधिकारियों ने कहा कि राज्य के कुल 810 बांधों में से 31 पूरी तरह भरे हुए हैं और 398 आंशिक रूप से पानी से भरे हुए हैं, जबकि 381 खाली हैं। अजमेर में शुक्रवार सुबह तक अधिकतम 114.2 मिमी बारिश दर्ज की गई।

मौसम विभाग ने पूर्वी राजस्थान के कुछ हिस्सों में भारी बारिश का अनुमान जताया है। इस बीच, बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव के क्षेत्र के कारण शनिवार और रविवार को मुंबई में तेज बारिश का अनुमान है। मुंबई में मौसम विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पश्चिमी तट से लगे क्षेत्रों में मौसम खराब होने की चेतावनी जारी की गई है।

हिमाचल प्रदेश में, सरकार ने सभी जिला-स्तरीय प्रशासकों को 8 अगस्त तक राज्य के कुछ हिस्सों में भारी बारिश को लेकर हाई-अलर्ट पर रहने के लिए कहा है। राज्य के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम स्तर बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने कहा कि ऊना जिले में गुरुवार शाम से सबसे अधिक 230.2 मिमी बारिश हुई। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.