मेरठ में चल रहे वेश्यालयों को बंद करने का निर्देश

Samachar Jagat | Wednesday, 15 May 2019 09:11:27 AM
Instructions for closing brothels running in Meerut

प्रयागराज। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मेरठ में कथित तौर पर चल रहे वेश्यालयों को बंद कराने के लिए राज्य के अपर मुख्य सचिव (गृह) को मेरठ के जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को निर्देश जारी करने के लिए कहा है। अदालत ने यह निर्देश एक जनहित याचिका पर दिया और अनैतिक व्यापार निवारण कानून के प्रावधानों एवं अन्य संबंद्ध प्रावधानों के मुताबिक कानूनी कार्यवाही करने को कहा।

Rawat Public School

सुनील चौधरी नाम के एक व्यक्ति द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायाधीश गोविन्द माथुर और न्यायमूर्ति  सौरभ श्याम शमशेरी की खंडपीठ ने अपर मुख्य सचिव को इस दिशा में उठाए गए कदमों के संबंध में एक पूर्ण रिपोर्ट प्राप्त कर उसे अदालत में पेश करने और इस याचिका में लगाए गए आरोपों के संबंध में की गई आपत्तियों के बारे में अदालत को अवगत कराने को भी कहा।

जनहित याचिका में आरोप लगाया गया है कि मेरठ शहर में कई वेश्यालय चल रहे हैं और जिला प्रशासन अनैतिक व्यापार निवारण कानून और अन्य संबद्ध प्रावधानों के तहत कोई कदम नहीं उठा रहा है। याचिकाकर्ता के मुताबिक, ’’सरकारी एजेंसियों की नजर में 75 वेश्यालय आए हैं और उनके द्वारा ऐसे स्थानों पर गर्भ निरोधक गोलियां भी बांटी गई हैं। अदालत के संज्ञान में यह बात भी लाई गई कि ये वेश्यालय आपराधिक गतिविधियों का केंद्र बन गए हैं और एक स्थान पर तो हत्या भी हो चुकी है। 

जब अदालत के संज्ञान में यह बात लाई गई कि इस जनहित याचिका को वापस लेने का दबाव बनाने के लिए याचिकाकर्ता जो स्वयं एक वकील हैं, को धमकियां दी गई हैं, अदालत ने यह स्पष्ट किया कि एक जनहित याचिका होने और इस अदालत के संज्ञान में यह बात आने के बाद यदि याचिकाकर्ता चाहे तो भी वह इस याचिका को वापस नहीं ले सकता। हालांकि अदालत ने प्रयागराज के जिलाधिकारी को याचिकाकर्ता को जरूरत पडऩे पर सुरक्षा मुहैया कराने का निर्देश दिया और इस मामले की अगली सुनवाई के लिए 29 मई, 2019 की तारीख तय की। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.