नयनतारा सहगल का आमंत्रण रद्द किया गया क्योंकि उनके भाषण में लिंचिंग का उल्लेख था : शिव सेना

Samachar Jagat | Tuesday, 08 Jan 2019 05:03:09 PM
Invitation of Nayantara Sehgal was canceled because of his speech Lancing was mentioned: Shiv Sena

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

मुंबई। शिव सेना ने मंगलवार को दावा किया कि 92 वें अखिल भारतीय मराठी साहित्य सम्मेलन के आयोजकों ने लेखिका नयनतारा सहगल का न्यौता रद्द कर दिया है क्योंकि उन्हें पता चला कि उनकी मंशा गाय से संबंधित हिंसा, भीड़ द्वारा पीट पीट कर मारने और सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग के बारे में कार्यक्रम में बोलने की हैं। शिवसेना के मुख पत्र ‘सामना’ के संपादकीय में कहा गया है कि साहित्य सम्मेलन के आयोजकों ने लेखिका का आमंत्रण रद्द कर उनके आत्मसम्मान और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की हत्या की है।


‘‘सम्मान वापसी’’ अभियान की अगुआ रही अंग्रेजी भाषा की लेखिका नयनतारा को 11 जनवरी को महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ इस 92 वें अखिल भारतीय मराठी साहित्य सम्मेलन का उद्घाटन करना था।
शिव सेना ने दावा किया कि नयनतारा का भाषण आयोजकों के पास भेजा जा चुका है, जिसमें उनकी योजना भीड़ द्वारा पीट पीट कर हत्या करने, घृणा की राजनीति, विपक्ष के खिलाफ सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग, पत्रकारों पर राजनैतिक दबाव डाले जाने तथा लेखकों की हत्या के बारे में बोलने की थी।

उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली पार्टी ने कहा, ‘‘आयोजकों ने सोचा होगा कि अगर कार्यक्रम में नयनतारा सहगल को बुलाया जाता है तो उन्हें ‘सरकारी मेहरबानी’ छोडऩी पड़ेगी । उन्होंने लेखिका के आत्सम्मान एवं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की हत्या की है ।’’
मराठी दैनिक के संपादकीय में लिखा है, ‘‘नयनतारा वही हैं जिन्हें इंदिरा गांधी के खिलाफ बोलने के लिए आपातकाल के दौरान जेल भेज दिया गया था । इसका मतलब है कि वह किसी विचाराधारा अथवा राजनीतक दल के खिलाफ नहीं है बल्कि जो गलत है उसके खिलाफ हैं ।’’ शिव सेना ने कहा कि उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया था कि मराठी साहित्य सम्मेलन में वह क्या विचार रखने वाली हैं।
एजेंसी

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.