14 लाख छात्रों को दोपहर का खाना वितरित करेगा इस्कॉन

Samachar Jagat | Friday, 31 Aug 2018 03:49:55 PM
ISKCON will distribute lunch to 14 million students

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

मुंबई। इंटरनेशनल सोसायटी फॉर कृष्णा कांसियसनेस ( इस्कॉन ), विभिन्न सरकारी और महानगर पालिका की ओर संचालित स्कूलों में लाखों विद्यार्थियों को दोपहर का खाना उपलब्ध करा रहे हैं और अब अपनी क्षमता बढ़ाते हुए प्रतिदिन 14 लाख विद्यार्थियों को दोपहर का खाना उपलब्ध कराएंगे। अन्नामृता फाउंडेशन के निदेशक राधाकृष्ण दास के अनुसार भारत में सबसे बड़ी नई रसोई मुंबई के माहुल में बनाई गई है। पूरे देश में कुल 21 रसोइयां हैं और इसी श्रृखंला में मुंबई में 21वीं रसोई बनाई गई है। 

'सेक्रेड गेम्स' के निर्देशन के लिए वाहवाही बटोर चुके निर्देशक विक्रमादित्य मोटवानी ने वेब सीरीज को लेकर कही ये बात

उन्होंने कल कहा कि यह रसोई नौ हजार वर्ग फुट में बनी है और आधुनिक और उच्च तकनीक से परिपूर्ण है। यहां पर तीव्र गति से उच्च श्रेणी का खाना बना कर बच्चों को दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारी सभी रसोइयां आईएसओ द्वारा
प्रमाणित है। अन्नामृता फाउंडेशन को इस्कॉन फूड रिलीफ फाउंडेशन के नाम से भी जाना जाता है। उन्होंने कहा कि उन्हें इस कार्य के लिए पीरामल फाउंडेशन, सहाचरी फाउंडेशन, एसबीआई म्युच्युल फंड, आईडीबीआई बैंक लिमिटेड, टैक्सिस ग्लोबल लिमिटेड, सिडीकेट बैंक और ओएनजीसी समेत अन्य कार्पोरेट मदद करते हैं।

नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने फिल्म मंटो के लिए वसूली इतनी रकम, आज तक किसी अभिनेता को नहीं मिली इतनी फीस

ताडदेव, मीरा भायंदर, पालघर, निगडी, वाडा, औरंगाबाद, गुड़गांव, दिल्ली, फरीदाबाद, कुरुक्षेत्र, पलवल, तिरुपति, नेल्लोर, राजामुद्री, कडप्पा, रंगा नारा गड्डा, जमशेदपुर, जयपुर और कोलकाता इत्यादि सहित देश भर में विभिन्न अन्नामृता के केंद्र बनाए गए हैं और पहले से ही 12 लाख बच्चों को दोपहर का मुफ्त भोजन उपलब्ध करा रहा है जो अब बढा कर 14 लाख बच्चों को दोपहर का भोजन मुफ्त दिया जाएगा। - एजेंसी 

गूगल तेज का नाम बदलकर हुआ Google Pay, लकी विजेताओं को गूगल दे रहा 1 लाख रुपए का इनाम

भूषण स्टील के साहिबाबाद संयंत्र से काम करेगी टाटा स्टील, दिल्ली में कार्यालय रखने का इरादा नहीं

 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.