कर्नाटक विधानसभा चुनाव: कांग्रेस उम्मीदवारों की घोषित सूची को लेकर असंतोष का माहौल

Samachar Jagat | Monday, 16 Apr 2018 06:47:33 PM
Karnataka assembly elections: An atmosphere of dissatisfaction with declared list of Congress candidates

बेंगलुरु। कर्नाटक में आगामी 12 मई को होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के 218 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी होने के एक दिन बाद सोमवार को जहां असंतुष्ट नेताओं एवं कार्यकर्ताओं, विशेषकर मुस्लिम समुदाय में आक्रोश का माहौल बन गया वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जी परमेश्वर स्थिति को संभालने में तेजी से सक्रिय नजर आए।

पीएम मोदी स्वीडन, ब्रिटेन, जर्मनी की यात्रा पर रवाना

काफी संख्या में मुस्लिम महिलाओं, छात्रों और अन्य लोगों का हुजूम दोपहर बाद प्रदेश कांग्रेस समिति के कार्यालय पहुंचा और पार्टी हाईकमान के साथ ही मुख्यमंत्री सिद्दारामैया के खिलाफ प्रदर्शन किया। चिकपेट इज ए मॉसनोरिटी बेल्ट’ और ‘ वी वांट मॉयनोरिटी सीट फॉर चिकपेट’ लिखी तख्तियां लिए प्रदर्शनकारियों ने कांग्रेस विरोधी और सिद्दारामैया विरोधी नारे लगाये।

इस बीच, परमेश्वर ने अपने आवास पर मीडिया से कहा कि कांग्रेस की प्रदेश इकाई ने असंतुष्टों से बातचीत करने और उन्हें मनाने के 5 समितियों का गठन किया है। उन्होंने जोर दिया कि संभावित उम्मीदवारों की ओर से टिकट की बढ़ती भारी मांग पर इस तरह की स्थिति का बनना स्वाभाविक है। कांग्रेस की महिला कार्यकर्ता चिकपेट सीट से आर वी देवराज को टिकट दिए जाने से भारी कुपित नजर आई।

बेंगलुरू में सितारपुर इलाके की निवासी रेशमा बीवी ने कहा कि यह धोखा है, जो हमें कांग्रेस नेताओं से आश्वासन के बावजूद मिला। वर्ष 2013 में भी मुस्लिम को उम्मीदवार बनाये जाने का वादा किया गया था लेकिन टिकट देवराज को दे दी गई। छात्र नेता बाबू शेख ने भी इसी तरह की भावनाएं व्यक्त करते हुए कहा कि कांग्रेस एक बड़ी भूल करेगी, यदि देवराज से टिकट वापस लेकर किसी मुस्लिम को उम्मीदवार नहीं बनाया जाएगा।

मुस्लिमों की बड़ी संख्या कांग्रेस के साथ है लेकिन चिकपेट में जीत की संभावना वाले किसी अन्य उम्मीदवार के लिए विचार किया जा सकता है, जिससे कांग्रेस के वोटों का गणित गड़बड़ाएगा। एक अन्य प्रदर्शनकारी ने कहा कि मुस्लिम मतदाताओं की संख्या करीब 80 हजार है और यह लोग मतदान के दिन बूथ से दूर रह सकते हैं।

बढ़ सकती है मुश्किले, हिमालयी क्षेत्र में सूख रहे है जलस्रोत

उन्होंने कहा कि अगर मुस्लिम वोट नहीं डालते हैं, जैसा कि 2008 में किया गया था तो भाजपा फायदे में रहेगी। रेशमा ने कहा, कांग्रेस को चिकपेट से इकबाल राज खान अथवा मिसबाह रियाज जैसे स्थानीय नेताओं को टिकट देना चाहिए। इकबाल भाई इलाके के सक्रिय कार्यकर्ता हैं और हमें उम्मीद है कि कांग्रेस उन्हें अपना उम्मीदवार बनाएगी।

लेकिन क्या इसका पूरा भरोसा है। इलाके में टेलरिंग का व्यवसाय करने वाले अहमद रफी ने कहा कि देवराज के खिलाफ आक्रोश व्याप्त है और कांग्रेस ने बिना उचित कारण के उन्हें उम्मीदवार बनाने का निर्णय लिया है। वह वास्तव में विफल हैं। दूसरी तरफ चिकबल्लापुर जिले के बागेपल्ली इलाके में भी असंतुष्ट कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा प्रदर्शन किए जाने की रिपोर्ट है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.