गुडगांव में बच्चे की हत्या: स्कूल की मान्यता रद्द कराने के लिए कोर्ट  पहुंचे बच्चे के पिता

Samachar Jagat | Saturday, 08 Sep 2018 09:48:41 AM
Kid murder in Gurgaon: Child father arrives to court for cancellation of school recognition

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

चंडीगढ़। गुड़गांव के एक निजी स्कूल के भीतर गत वर्ष जिस सात वर्षीय बच्चे की हत्या की गई थी, उसके पिता ने स्कूल को सीबीएसई से मिली मान्यता खारिज कराने के लिए शुक्रवार को पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय में अर्जी दी है। कोर्ट ने इस संबंध में दायर रिट याचिका को स्वीकार कर लिया है।

याचिका में अनुरोध किया गया है कि हरियाणा सरकार भी स्कूल को मिली मान्यता को रद्द कर दे। अदालत ने स्कूल प्रबंधन, सीबीएसई और हरियाणा सरकार को इस संबंध में जवाब देने के लिए छह सप्ताह का वक्त दिया है।

विधायक की महिला विरोधी टिप्पणी पर फडणवीस की चुप्पी को लेकर राकांपा, कांग्रेस ने उठाया सवाल

7 वर्षीय बच्चे के पिता की ओर से पेश हुए वकील सुशील टेकरीवाल ने बताया कि उच्च न्यायालय ने रिट याचिका स्वीकार करते हुए निजी स्कूल को इसके न्यासियों के माध्यम से, सीबीएसई और हरियाणा सरकार को नोटिस जारी किया है।

टेकरीवाल ने कहा कि याचिकाकर्ता ने अदालत को बताया है कि सीबीएसई द्बारा गठित तथ्यान्वेषी समिति को स्कूल की ओर से कई लापरवाही मिली और उसने प्रबंधन के खिलाफ प्रतिकूल टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि याचिकाकर्ता ने अदालत को बताया कि कि बच्चे की हत्या प्रबंधन की लापरवाही की वजह से हुई है क्योंकि स्कूल प्रशासन ने सुरक्षा पर ध्यान नहीं दिया।

रात को सो रही महिला के पास आए दो लोग और उसके साथ करने लगे ये गंदा काम

इससे पहले अदालत ने सात वर्षीय बच्चे की हत्या के आरोपी 16 वर्षीय किशोर की जमानत याचिका खारिज कर दी थी। मामले की अगली सुनवाई 31 अक्टूबर को की जाएगी। गुड़गांव के इस निजी स्कूल में बच्चे की हत्या शौचालय में गला काटकर की गई थी।

BIRTHDAY SPECIAL: अपनी दिलकश आवाज से करोड़ों दिल पर राज करने वाली आशा भोंसले ने की थी 16 की उम्र में शादी

सनी देओल और बॉबी देओल को पिता धर्मेन्द्र ने विरासत में दी ये अनमोल चीज, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.