करीब 3 दर्जन के टिकट कटे, घमासान वाली सीटें रुकीं

Samachar Jagat | Friday, 02 Nov 2018 03:48:11 PM
Madhya Pradesh Assembly Elections news

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व की ओर से शुक्रवार को जारी हुई प्रत्याशियों की पहली सूची में कई महिला विधायकों सहित करीब 3 दर्जन विधायकों के टिकट काट कर नए चेहरे उतारे गए हैं। जिनके टिकट काटे गए हैं, उनमें सबसे अहम नाम मंत्री माया सिह का है। उनके स्थान पर ग्वालियर पूर्व से पार्टी ने सतीश सिकरवार को प्रत्याशी बनाया है।

वहीं मंत्री गौरीशंकर शेजवार की जगह उनके बेटे मुदित शेजवार और हर्ष सिंह की जगह उनके बेटे विक्रम सिह पर दांव खेला गया है। पार्टी ने शुक्रवार को 177 प्रत्याशियों की सूची जारी की है। हालांकि जिन सीटों पर घमासान मचा हुआ था, ऐसी बहुत सी सीटों के दावेदारों को अभी और इंतजार करना होगा।

इनमें भोपाल उत्तर, गोविदपुरा, इंदौर की महू सहित आठों सीटें, पन्ना, होशंगाबाद की सिवनी-मालवा, ग्वालियर की भितरवार, विदिशा की शमशाबाद और गंजबासौदा और जबलपुर उत्तर प्रमुख हैं। भोपाल की गोविदपुरा सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर और उनकी बहू कृष्णा गौर दोनों ही दावेदारी कर रहे हैं। इंदौर की महू सीट से पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय विधायक हैं।

खबरों के अनुसार अब वह अपने बेटे आकाश विजयवर्गीय के लिए टिकट चाह रहे हैं। पन्ना से मौजूदा विधायक प्रदेश की मंत्री कुसुम मेहदेले और सिवनी-मालवा से विधायक सरताज सिंह की दावेदारी पर भी अभी संशय बना हुआ है। वहीं विदिशा के शमशाबाद से विधायक प्रदेश सरकार के मंत्री सूर्यप्रकाश मीणा चुनाव नहीं लड़ने की इच्छा जता चुके हैं।

गंजबासौदा और भितरवार अभी कांग्रेस के खाते में हैं। बीजेपी की पहली सूची में कई मौजूदा महिला विधायकों के टिकट काट दिए गए हैं। इनमें सुरखी से पारुल साहू, पृथ्वीपुर से अनिता नायक, मलहरा से रेखा यादव, हटा से उमादेवी खटीक, सैलाना से संगीता चारेल और जयसिह नगर से प्रमिला सिह का नाम शामिल है।

कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के क्षेत्र छिदवाड़ा में भाजपा ने लगभग सभी सीटों पर अपने पुराने चेहरों को ही मौका दिया है। जिले की एकमात्र सीट जुन्नारदेव पर इस बार चेहरा बदला गया है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के क्षेत्र विदिशा में कल्याण सिह ठाकुर के स्थान पर मुकेश टंडन को मौका दिया गया है।

वर्तमान में जिला अध्यक्ष और नगर पालिका अध्यक्ष टंडन मुख्यमंत्री चौहान के काफी करीबी माने जाते हैं। किसान आंदोलन से प्रभावित रहे प्रदेश के रतलाम और नीमच में भी कई स्थानों पर पार्टी ने अपने चेहरे बदले हैं।

रतलाम ग्रामीण और सैलाना के अलावा नीमच के मनासा से मौजूदा विधायकों के टिकट काट दिए गए हैं। किसान आंदोलन के गढ रहे मंदसौर की दो सीटों पर पार्टी ने पुराने चेहरों पर ही दांव खेला है। वहीं गोलीबारी का सामना कर चुके पिपल्यामंडी के विधानसभा क्षेत्र गरोठ पर पार्टी ने अभी प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.