मोदी सेना की आड़ में नाकामियां छुपाना चाहते है: सचिन पायलट

Samachar Jagat | Saturday, 04 May 2019 03:02:23 PM
Modi wants to hide failures in guise of Army: Sachin Pilot

जयपुर। राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जनता से किए वादे पूरे नहीं करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि वह सेना की शौर्य एवं वीरता की आड़ में अपनी पांच वर्ष की नाकामियां छुपाना चाहते है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पायलट ने शनिवार को यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मोदी लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान उनके कार्यकाल में राजस्थान में नदियों को जोडने, हवाई अड्डों का निर्माण करने, विश्वविद्यालय खोलने, सडकों के पुल बनाने तथा किसानों एवं मजदूरों के कल्याण की योजनाओं को गिनाया जाना चाहिए लेकिन वे अपना रिपोर्ट कार्ड छुपाने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार है।

उन्होंने कहा कि सैनिकों का सम्मान पूरा देश करता है, सेना का राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के दौरान मोदी ने कहा था कि इससे नक्सलवाद एवं अलगाववाद की गतिविधियां बंद हो जायेगी, लेकिन इनमें कोई कमी नहीं आयी और ये निरंतर जारी है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के गढचिरौली में नक्सलवादियों ने 16 जवानों की हत्या कर दी।

कुछ दिनों पूर्व छत्तीसगढ में नक्सलवादियों ने भाजपा विधायक की हत्या कर दी और भी कई घटनाएं होती रही है। आतंकवादी गतिविधियों में निरतर वृद्धि हो रही है। पुलवामा, पठानकोट एवं उरी हमला इसके उदाहरण है। पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर लगातार गोलीबारी जारी है। पायलट ने कहा कि राज्य सरकार के तीन माह के कार्यकाल में किसानों की कर्जमाफी, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) में रोजगार देने जैसे कई कार्य किए है।

उन्होंने कहा कि राज्य में इससे पहले वसुंधरा राजे सरकार के शासन के अंतिम दिनों में  मनरेगा के तहत नौ लाख लोगों को रोजगार दिया जा रहा था जो वर्तमान में बढकर 31 लाख हो गया है। कांग्रेस सरकार मनरेगा में मजदूरों के सौ दिन के रोजगार को बढ़ाकर ड़ेढ सौ दिन करने जा रही है। उन्होंने दावा किया कि राज्य में कांग्रेस राज्य सरकार द्वारा लोगों के हित में लिए गए निर्णयों की बदौलत कांग्रेस का लक्ष्य मिशन-25 सफलतापूर्वक हासिल करेगी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.