राजस्थानः बैंकों में नगदी नहीं पहुंचने से लोगों को आज भी परेशानी

Samachar Jagat | Thursday, 17 Nov 2016 05:31:52 PM
राजस्थानः बैंकों में नगदी नहीं पहुंचने से लोगों को आज भी परेशानी

जयपुर। राजस्थान के बैंकों में रिजर्व बैंक से नये नोटों की आपूर्ति नहीं होने के कारण लोगों को आज भी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

नोट बदलवाने और जमा कराने वाले ग्राहकों के हाथ पर स्याही से निशान लगाने के निर्देशों के बाद भी कई बैंकों में इसकी पालना नहीं हो रही, लेकिन इससे बैंकों में लाईनें कम जरुर हुई है।

रिजर्व बैंक ने आज चार हजार पांच सौ रुपए बदलवाने के पिछले निर्णय से पीछे हटते हुये दो हजार रुपए ही बदलने के निर्देश दिये हैं। इसका कारण बैंकों तक नए नोट नहीं पहुंचना माना जा रहा है।

एम आई रोड़ पर लाईन में खड़े शंकर लाल ने बताया कि सभी बैंक रिजर्व बैंक के निर्देशों की पालना नहीं कर रहे हैं तथा अलग अलग स्थानों पर बैंक पैसे देने में अपनी अलग नीति अपना रहे हैं। उन्होंने बताया कि एच एस बी सी बैंक पिछले पांच छह दिन से ग्राहकों को दो हजार रुपये ही दे रहा है जबकि नोट बदलवाने की सीमा साढ़े चार हजार रुपए की जा चुकी थी। 

बैंकों में नोटों की आवक नहीं होने के साथ एटीएम भी खाली रहने से यह समस्या और गहरा गई है। ज्यादातर एटीएम खाली पड़े हैं। केनरा बैंक के कर्मचारियों ने बताया कि दोपहर तक शायद नगदी आ जाये जब ही वे ग्राहकों के नोट बदल सकते हैं। अभी सिर्फ नोट जमा करने का ही काम हो रहा है।

यह भी देखा जा रहा है कि बैंकों की लाईन में नोट बदलवाने वालों में ऐसे भी लोग थे जो काले धन को सफेद बनाने का काम किसी के लिए कर रहे थे। आज ऐसे लोगों में भी कमी देखी गई है।

शहर में शादी ब्याह का माहौल है तथा शादी के घरों में लोग उधार या ऑन लाईन पेमेंट कर समस्या से निपट रहे हैं। नगदी की कमी के कारण सब्जियों के दाम भी कम हुए हैं। टमाटर तथा आलू के भाव आधे ही रह गये हैं तथा अन्य सब्जियां भी सस्ती हुई है।

किराने की दुकानों पर भी नगदी की समस्या है। कई दुकानदार पुराने नोट लेने पर उसके बदले ज्यादा कीमत वसूल कर रहे हैं। जानकार लोगों ने बताया कि डाकघरों में भी नगदी नहीं पहुंचने के कारण लोग निराश लौट रहे हैं।

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.