चार दिन के अन्तराल में दहेज हत्या का दूसरा मामला हुआ दर्ज , जांच मे जुटी पुलिस

Samachar Jagat | Saturday, 15 Sep 2018 04:13:47 PM
 second case of dowry killing took place in four days intervals

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

अलवर। राजस्थान में अलवर जिले के किशनगढ बास थाने में चार दिन के अन्तराल में दहेज हत्या का दूसरा मामला दर्ज हुआ है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि ग्राम नौगांव तहसील रामगढ जिला निवासी आशु खां मेव ने थानें में दहेज हत्या का मामला दर्ज कराया है।

मामले के मुताबिक आशु खां की दो बेटियों आसमां का निकाह इस्ताक के साथ और अंजुम का निकाह सम्मी के साथ हुआ था। जिसमें आशु खां ने अपने क्षमता के मुताबिक दहेज और घरेलु सामान दिया। लेकिन निकाह के बाद से ही अंजुम के पति सम्मी खां सहित ससुराल वाले दहेज के लिए परेशान एवं रोज मारपीट करने लगे और दहेज में बड़ी मांग करने लगे।

हालांकि इस बीच मृतका के पिता आशु खां गांव के प्रमुख लोगों को लेकर अपनी बेटियों के ससुराल पहुंचा और समझाइश प्रयास किया लेकिन ससुराल पक्ष के लोगों पर इसका कोई असर नहीं हुआ और उन्होंने उसकी दोनो बेटियों को मारपीट कर घर से निकाल दिया। इसके बाद से ही दोनों बेटियां पिता आसु खां के पास ही रह रही थी।

इसके बाद 28 अगस्त को मिर्जापुर से सम्मीखां के रिश्तेदार आशु खा के घर पहुंचे और ईद पर दोनो लड़कियों को भेजने की बात कही। इस पर आसुखां ने आरोपी सम्मी खां के चाचा सत्तार एवं ताऊ खालिद के साथ छोटी बेटी अंजुम को ससुराल भेज दिया जबकि दूसरी पुत्री आसमां की तबीयत खराब होने की वजह से उसको नहीं भेजा।

अंजुम को ससुराल पंहुचते ही ससुराल पक्ष के उसे फिर दहेज के लिए प्र​ताडित करने लगे और एक फोर्ड ट्रेक्टर और 2 लाख 51 हजार रुपए नगद की मांग करने लगे। इसके बाद कल दोपहर करीब 11 बजे उसकी पुत्री अंजुम का फोन आया कि ससुराल वाले उसके साथ मारपीट कर रहे।

इसके एक घंटे बाद ही करीब 12 बजे मिर्जापुर गांव से ही किसी ने दोबारा फोन पर सूचना दी कि आपकी लड़की अंजुम मर गई है। अंजुम का पिता लड़की के ससुराल पहुंचा और पुलिस को मामले की जानकारी दी। पुलिस ने शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराकर शव को मृतका के पीहर पक्ष को सौंप दिया तथा जांच प्रारंभ कर दी है। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.