प्रदेश को मिलेगा ‘नेशनल एनर्जी कंजरवेशन अवार्ड-2016’

Samachar Jagat | Tuesday, 29 Nov 2016 11:30:05 AM
प्रदेश को मिलेगा ‘नेशनल एनर्जी कंजरवेशन अवार्ड-2016’

एनर्जी सेविंग परियोजना में राज्य प्रथम स्थान पर
जयपुर ।
एनर्जी सेविंग परियोजना के तहत देश में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 14 दिसम्बर, 2016 को प्रदेश को राष्ट्रीय स्तर के ‘नेशनल एनर्जी कंजरवेशन अवार्ड-2016’ प्रदान करेंगे। अवार्ड स्वायत्त शासन मंत्री राजपाल सिंह शेखावत द्वारा प्राप्त किया जाएगा। प्रमुख शासन सचिव, स्वायत्त शासन विभाग डॉ. मनजीत सिंह ने बताया कि एनर्जी सेविंग परियोजना (एल.ई.डी. लाईट) के तहत देश में 26 नवम्बर, 2016 तक 14 लाख 23 हजार 748 नग लाइटें लगायी गई थी। 

जिसमें से प्रदेश में सर्वाधिक एल.ई.डी. लाइटें 5 लाख 37 हजार 705 नग लगाई गई है। इस प्रकार से स्ट्रीट लाईट राष्ट्रीय प्रोग्राम ‘डैशबोर्ड’ के अनुसार राजस्थान प्रदेश में सर्वाधिक एल.ई.डी. लाइटें लगायी गई है। इसी प्रकार दूसरे स्थान पर 

आंध्र प्रदेश तथा तृतीय स्थान पर नई 
दिल्ली हैं। डैशबोर्ड पर देश में प्रतिदिन प्रतिराज्य लगने वाली एल.ई.डी. लाईट की संख्या अंकित की जाती है। केन्द्र सरकार द्वारा प्रदेश द्वारा ऊर्जा बचत के क्षेत्र में किए गए विशेष प्रयास को देखते हुए ‘नेशनल एनर्जी कंजरवेशन अवार्ड-2016’ प्रदान किया जा रहा है।

 राष्ट्रीय स्तर के इस अवार्ड को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 14 दिसम्बर, 2016 को दिल्ली में प्रदान करेंगे। प्रदेश की ओर से यह सम्मान स्वायत्त शासन मंत्री राजपाल सिंह शेखावत द्वारा ग्रहण किया जाएगा। चीन की संख्या इंटरनेशनल (आई.एस.ए.) अलाईन्स (आई.एस.एल) द्वारा भी इस प्रोजेक्ट में कार्यरत फर्म सूर्या रोशनी लिमिटेड को भीलवाड़ा में उत्कृष्ठ कार्य करने पर सम्मानित किया जाएगा।

परियोजना अगले साल मार्च तक होगी पूरी, होगी ऊर्जा की बचत
एनर्जी सेविंग एल.ई.डी. लाइट परियोजना मार्च 2017 तक प्रदेश में पूर्ण हो जाएगी। परम्परागत सोडियम व ट्यूबलाइटों के स्थानों पर एनर्जी सेभवग की एल.ई.डी. लाइट लगाने से लगभग 55 से 60 प्रतिशत ऊर्जा बचत होगी। प्रदेश में अभी तक 35 शहरी निकायों में एल.ई.डी. लाइट लगाने का कार्य पूर्ण कर लिया गया है।

 जिनमें से झालावाड़, माउण्ट आबू, पुष्कर, रतननगर, रतनगढ़, धौलपुर, पाली, उदयपुर, अजमेर, नागौर, आमेट, विद्याविहार, पिलानी, नाथद्वारा, राजसमंद, नवलगढ़, लक्ष्मगढ़, बिसाऊ, डीडवाना, जैसलमेर, सांगोद, कैथून, नीम का थाना, निवाई, जोबनेर, भिवाड़ी, पिड़ावा, निम्बाहेड़ा, किशनगढ़, मकराना, भीलवाड़ा, अकलेरा, चित्तौडग़ढ़, रावतभाटा शामिल है। प्रदेश के 48 शहरी निकाय क्षेत्रों में एल.ई.डी. लाइटें लगाने का कार्य तेजी से प्रगति पर है तथा 7 शहरी निकायो में सर्वे का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है। तथा 98 शहरी निकाय क्षेत्रों में एल.ई.डी. लाइट लगाने का कार्य प्रक्रियाधीन है।

दिल्ली हैं। डैशबोर्ड पर देश में प्रतिदिन प्रतिराज्य लगने वाली एल.ई.डी. लाईट की संख्या अंकित की जाती है। केन्द्र सरकार द्वारा प्रदेश द्वारा ऊर्जा बचत के क्षेत्र में किए गए विशेष प्रयास को देखते हुए ‘नेशनल एनर्जी कंजरवेशन अवार्ड-2016’ प्रदान किया जा रहा है। 
राष्ट्रीय स्तर के इस अवार्ड को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 14 दिसम्बर, 2016 को दिल्ली में प्रदान करेंगे।

 प्रदेश की ओर से यह सम्मान स्वायत्त शासन मंत्री राजपाल भसह शेखावत द्वारा ग्रहण किया जाएगा। चीन की संख्या इंटरनेशनल (आई.एस.ए.) अलाईन्स (आई.एस.एल) द्वारा भी इस प्रोजेक्ट में कार्यरत फर्म सूर्या रोशनी लिमिटेड को भीलवाड़ा में उत्कृष्ठ कार्य करने पर सम्मानित किया जाएगा।


परियोजना अगले साल मार्च तक होगी पूरी, होगी ऊर्जा की बचत : एनर्जी सेभवग एल.ई.डी. लाइट परियोजना मार्च 2017 तक प्रदेश में पूर्ण हो जाएगी। परम्परागत सोडियम व ट्यूबलाइटों के स्थानों पर एनर्जी सेभवग की एल.ई.डी. लाइट लगाने से लगभग 55 से 60 प्रतिशत ऊर्जा बचत होगी। 

प्रदेश में अभी तक 35 शहरी निकायों में एल.ई.डी. लाइट लगाने का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। जिनमें से झालावाड़, माउण्ट आबू, पुष्कर, रतननगर, रतनगढ़, धौलपुर, पाली, उदयपुर, अजमेर, नागौर, आमेट, विद्याविहार, पिलानी, नाथद्वारा, राजसमंद, नवलगढ़, लक्ष्मगढ़, बिसाऊ, डीडवाना, जैसलमेर, सांगोद, कैथून, नीम का थाना, निवाई, जोबनेर, भिवाड़ी, पिड़ावा, निम्बाहेड़ा, किशनगढ़, मकराना, भीलवाड़ा, अकलेरा, चित्तौडग़ढ़, रावतभाटा शामिल है। 

प्रदेश के 48 शहरी निकाय क्षेत्रों में एल.ई.डी. लाइटें लगाने का कार्य तेजी से प्रगति पर है तथा 7 शहरी निकायो में सर्वे का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है। तथा 98 शहरी निकाय क्षेत्रों में एल.ई.डी. लाइट लगाने का कार्य प्रक्रियाधीन है।
 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.