हजारों ब्रजयात्रियों ने सौपा एसडीएम को ज्ञापन

Samachar Jagat | Saturday, 16 Nov 2019 08:32:22 PM
Thousands of Brajatriya submitted memorandum to SDM

कामां भरतपुर,रामेश्वर गुर्जर
श्रीमान मंदिर गहवर बरसाना के संत रमेश बाबा के सानिध्य में चल रही राधारानी ब्रज यात्रा के हजारों यात्रियों ने कामां एसडीएम कार्यालय पहुंचकर ब्रज क्षेत्र कामवन के सरोवरो, श्री कृष्ण की लीला स्थलियो के क्षेत्रों के संरक्षण की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम पांच सूत्री ज्ञापन सौंपा|
यात्रा व्यवस्थापक राधाकांत शास्त्री ने बताया कि कि ब्रजमंडल के हृदय स्थल कामवन में धार्मिक पौराणिक पर्यावरण महत्व के विभिन्न स्मारक व तीर्थ स्थल मौजूद है ब्रज क्षेत्र की पहाडियो को संरक्षित करने के आदेश देकर उन्हें वन संरक्षित व खनन प्रतिबंधित घोषित कर दिया गया था सरकार के इस कदम से अनेक पौराणिक क्षेत्र के अनेक स्थल सुरक्षित हो गए थे लेकिन फिर भी वन क्षेत्र में अधिकांश स्थानों पर अभी भी खनन माफिया अवैध खनन में लगे हुए हैं जिससे ब्रज के पर्वत दिनोंदिन क्षीण होते चले जा रहे हैं ज्ञापन में बताया गया कि कामवन प्राचीन काल से ही यहां के सरोवरो ,सघन वनों तथा भगवान श्री कृष्ण की लीला स्थलियो के कारण जन-जन की आस्था का केंद्र रहा लेकिन इन पवित्र सरोवर एवं लीला स्थलों पर अतिक्रमणकारियों व भू माफियाओं की दृष्टि पड़ गई है जिससे यह दिनों दिन लुप्त होते जा रहे हैं कामवन  में 84 सरोवर थे जो आध्यात्मिक शांति के साथ-साथ भूगर्भीय जल संरक्षण के महत्वपूर्ण स्रोत थे लेकिन अतिक्रमण के कारण अब कुछ ही शेष बचे हैं राधाकांत शास्त्री ने बताया कि कामवन की ऐतिहासिक धरोहरों को संरक्षित करने के उद्देश्य तथा कामां का मूल एवं वास्तविक नाम कामवन घोषित किए जाने, काममन के समुचित विकास के लिए ब्रज विकास बोर्ड का गठन किए जाने की मांग की गई है साथ साथ कामवन को पर्यटन स्थल व तीर्थ नगरी घोषित करने सहित प्राचीन सरोवरो एवं लीला स्थलियो का स्वरूप निर्धारित कर संरक्षण करने की मांग रखी गई है |



loading...


फोटो परिचय -एसडीएम को ज्ञापन देते संत रमेश बाबा व ब्रजयात्री

loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.