इलेक्ट्रॉनिक स्वरूप में वाहनों के कागज दिखा सकते हैं चालक: मद्रास उच्च न्यायालय

Samachar Jagat | Thursday, 06 Dec 2018 01:11:21 PM
Vehicle papers in electronic format can show driver: Madras High Court

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

चेन्नई। मद्रास उच्च न्यायालय ने व्यवस्था दी है कि पुलिस या अन्य किसी अधिकारी द्बारा मांगे जाने पर वाहन चालक इलेक्ट्रानिक स्वरूप में वाहनों के कागजात दिखा सकते हैं। ऐसा गत माह केंद्र सरकार की एक अधिसूचना में भी कहा गया। न्यायमूर्ति डॉ. विनीत कोठारी और न्यायमूर्ति डॉ. अनिता सुमंत की खंडपीठ ने बुधवार को एक ज्ञापन के खिलाफ अनेक याचिकाओं का निस्तारण किया।


इस ज्ञापन में कहा गया है कि वाहन चालकों को लाइसेंस समेत मूल दस्तावेज साथ में रखने चाहिए। कोर्ट ने गत माह भूतल परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्बारा जारी अधिसूचना को रिकार्ड करने के बाद उसका निस्तारण किया। पीठ ने कहा कि केंद्र सरकार द्बारा दो नवंबर को लाए गए संशोधन के मद्देनजर याचिकाएं निष्फल हो गई हैं।

याचिकाओं में एक माल वाहन स्वामी संगठन के अखिल भारतीय संघ की ओर से दाखिल की गयी है जिसमें राज्य यातायात योजना प्रकोष्ठ के एडीजीपी द्बारा 24 अगस्त, 2017 को जारी ज्ञापन को चुनौती दी गई है। ज्ञापन में कहा गया कि बिना लाइसेंस के वाहन चला रहे व्यक्ति पर मोटर वाहन अधिनियम की धारा 130 और 171 के तहत मुकदमा चलाया जाएगा।

ज्ञापन के मुताबिक सभी वाहन चालक गाड़ी चलाते समय लाइसेंस सहित सभी कागजात की मूल प्रतियां रखेंगे। सामाजिक कार्यकर्ता ट्रैफिक रामास्वामी, तमिलनाडु लॉरी स्वामी संघ और टिपर लॉरी स्वामी संघ और माल वाहन स्वामी संगठन के अखिल भारतीय संघ ने उच्च न्यायालय में इस ज्ञापन को चुनौती दी थी।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.