महिला आईएएस ने अपने अधिकारी पर लगाया यौन उत्पीडऩ का आरोप

Samachar Jagat | Sunday, 10 Jun 2018 04:48:53 PM
Women IAS accused of sexual harassment imposed on her official

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार में तैनात 28 साल की महिला आईएएस अधिकारी ने अपने वरिष्ठ अफसर पर यौन उत्पीडऩ करने का आरोप लगाया है। उनके वरिष्ठ अधिकारी ने आरोपों का खंडन करते हुए दावा किया कि महिला अफसर को सलाह दी गई थी कि अन्य अधिकारियों द्वारा जरूरी मंजूरी हासिल कर चुकी फाइलों में गलतियां नहीं निकालें।

आपसी विवाद के चलते युवक की गोली मारकर हत्या

 महिला अधिकारी ने घटना का विवरण देते हुए फेसबुक पर एक पोस्ट लिखी है।  उसमें उन्होंने बताया कि उनके बॉस ने उन्हें 22 मई को अपने ऑफिस में बुलाया और उन्हें धमकाया। मुझसे सवाल किया कि मैं फाइलों पर यह क्यों लिख रही हूं कि विभाग ने गलत किया है। पुरुष अधिकारी ने धमकाते हुए कहा कि  अगर उन्होंने आधिकारिक फाइलों पर विपरीत टिप्पणियां लिखना बंद नहीं किया तो उनकी वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट को खराब कर दिया जाएगा।

 वरिष्ठ अफसर ने उन्हें 31 मई को बुलाया और किसी को उनके कमरे में नहीं आने की हिदायत दी। महिला अधिकारी ने आरोप लगाया  कि उन्होंने मुझसे पूछा कि मैं किस तरह का काम करना चाहती हूं , मैं विभागीय काम करना चाहती हूं या टाइम - पास काम चाहती हूं ... और फिर उन्होंने मुझसे फाइलों पर विपरीत टिप्पणियां नहीं लिखने को कहा।  

सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत मामला दर्ज

उन्होंने मुझसे कहा कि उन्हें एक नई - नवेली दुल्हन की तरह सबकुछ समझाना पड़ेगा और वह मुझे उसी तरह से समझा रहे हैं। मुझे उनका व्यवहार अनैतिक लगा।  छह जून को वरिष्ठ अधिकारी ने उन्हें शाम पांच बजे अपने दफ्तर में बुलाया और उनसे शाम 7 बजकर 39 मिनट तक वहीं रहने को कहा।

 उन्होंने कहा कि मैं मेज की दूसरी तरफ उनके सामने बैठी थी। उन्होंने मुझसे कहा कि उनकी कुर्सी के नजदीक आऊं। जब मैं मेज की दूसरी तरफ पहुंची तो उन्होंने मुझे कंप्यूटर चलाना सिखाने का दिखावा किया। मैं अपनी कुर्सी पर वापस चली गई। कुछ देर बाद वह खड़े हुए और कोई कागज ढूंढते हुए मेरी कुर्सी के करीब आए और कुर्सी को धक्का दिया। 

दंतेवाडा मेें ट्रेन से कटकर चार महिलाओं की मौत

उन्होंने यह भी लिखा है कि उनकी पुलिस सुरक्षा वापस ले ली गई है और उन्होंने इस घटना के सम्बंध में राष्ट्रपति को ईमेल भेजा है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.