योगी ने की वाराणसी संकट मोचन मंदिर में पूजा, गढवा आश्रम के संतों से मुलाकात

Samachar Jagat | Thursday, 18 Apr 2019 04:00:23 PM
Yogi worshiped in Varanasi sankat Mochan Mandir

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को यहां प्रसिद्ध संकट मोचन मंदिर में  विधिविधान से पूजा-अर्चना और भगवान कृष्ण के वंशजों से जुड़े आस्था के प्रमुख केंद्र गढवा घाट आश्रम जाकर स्वामी शरणानन्द तथा अन्य संतों से मुलाकात की। चुनाव आयोग द्बारा आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर चुनाव प्रचार पर अपने ऊपर आंशिक प्रतिबंध लगने के बाद योगी ने कई मंदिरों में पूजा-अर्चना के बाद के यहां पहुंचे।

वाराणसी में भाजपा कार्यकर्ताओं ने गर्मजोशी से उनका स्वागत किया। योगी का हेलीकॉप्टर काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के हेलीपैड पर उतरा जहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेताओं ने उनकी आगवानी की। उनका काफिला सीधे संकट मोचन मंदिर पहुंचा, जहां पहले से मौजूद भाजपा कार्यकर्ताओं ने जय-जय श्री राम एवं हर-हर महादेव के जयकारों से उनका अभिनंदन किया।

मंदिर में महंत प्रो. विशंभर नाथ मिश्र एवं उनके छोटे भाई डॉ. बीएन मिश्र ने उनका स्वागत किया। योगी ने प्राचीन संकट मोचन मंदिर में भगवान हनुमान के दर्शन के बाद मंदिर की प्ररिक्रमा की। सूत्रों ने बताया कि पूजा-पाठ के बाद योगी ने प्रो. मिश्र से बातचीत की।

संकट मोचन हनुमान की पूजा-अर्चना के बाद मुख्यमंत्री गढवा घाट आश्रम पहुंचे, जहां उन्होंने गौशाला के गायों को गुड़ एवं केला खिलाया और संतों से औपचारिक बातचीत की। योगी के इन कार्यक्रमों को भाजपा नेता धार्मिक बता रहे हैं। गौरतलब है कि गढèवा घाट आश्रम को पूर्वांचल के यादव समुदाय एवं अन्य पिछड़े वर्ग के एक करोड़ से अधिक लोगों की आस्था का केंद्र माना जाता है।

शायद यही वजह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव समेत अनेक जाने-माने नेता भी समय-समय पर गढवा घाट आते रहे हैं। वाराणसी के सांसद मोदी वर्ष 2017 में उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव से ठीक पहले गढवा घाट आश्रम के संतों से मुलाकात की थी तथा यहां के गौशाला में जाकर गायों को चारा खिलाया था। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.