छात्रनेता की हत्या के बाद इविवि प्रशासन हुआ सख्त

Samachar Jagat | Saturday, 03 Nov 2018 05:04:36 PM
After the student leader's murder,

प्रयागराज। पीसीबी हास्टल में पूर्व छात्र नेता की हत्या के बाद से कड़ा रूख अपनाते हुए इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) प्रशासन ने निर्देश जारी किया है कि बिना अनुमति के छात्रावास में कोई भी वैध असलहा नहीं रख सकता।

इविवि के कुलानुशासक रामसेवक दुबे ने शनिवार को बताया कि विश्वविद्यालय परिसर एवं छात्रावासों में अस्त्र-शस्त्र रखना या परिसर में लेकर घूमना निषिद्ध है। उन्होंने बताया कि शस्त्र धारक अगर शस्त्र रखता है तो उसे अपनी विशेष परिस्थिति का उल्लेख कर छात्रावास अधीक्षक और कुलानुशासक से इसकी लिखित अनुमति लेनी होगी।

 दुबे ने बताया कि औचक निरीक्षण में बिना अनुमति शस्त्र किसी भी छात्र के पास से बरामद होने पर उसका विश्वविद्यालय से नामांकन रद्द कर उसके खिलाफ कार्रवाई के लिए जिलाधिकारी को संस्तुति की जायेगी। गौरतलब है कि गुरूवार की रात को पीसीबी हास्टल में पूर्व छात्र नेता अच्युतानंद शुक्ल (30) उर्फ सुमित शुक्ला की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इस मामले में अच्युतानंद के परिवार की तरफ से अभिमन्यु शुक्ला ने सीएमपी कालेज के छात्रसंघ अध्यक्ष आशुतोष त्रिपाठी, हिरकेश मिश्रा और शौरभ भसह उर्फ भप्रस के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराया है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

वर्ष 2012 में वह विश्वविद्यालय में महामंत्री पद के लिए चुनाव लड़ा था। वह कई मामलों में वांछित था। हाल ही में हुए इविवि के छात्रसंघ चुनाव में मजबूत दखल रखता था तथा चुनाव के नामांकन वाले दिन गोलीबारी की घटना के बाद पुलिस प्रशासन ने अच्युदानंद, अभिषेक सिंह, माइकल, अभिषेक सिंह सोनू, आकाश सिंह और अजीत यादव पर 25-25 हजार रूपये का ईनाम घोषित किया था। इसकी गिरफ्तारी का जिम्मा एसटीएफ को सौंपा गया था। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.