रिश्वतखोर सहायक उप निरीक्षक को चार वर्ष का कारावास

Samachar Jagat | Thursday, 01 Nov 2018 10:47:02 AM
Bribery assistant sub-inspector gets 4 years imprisonment

जबलपुर। मध्यप्रदेश के जबलपुर की एक विशेष अदालत ने रिश्वत के मामले में पकडे गए एक सहायक उप निरीक्षक को आज मामले का दोषी पाए जाने पर चार वर्ष के कारावास की सजा से दण्डित किया। विशेष न्यायाधीश अक्षय कुमार द्विवेदी रिश्वतखोर तत्कालीन एएसआई प्रभु दयाल ठाकुर को रिश्वत के मामले में दोषी ठहराए जाने पर चार वर्ष के कारावास के साथ छह हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाते हुए आरोपी को जेल भेजने के आदेश जारी किए हैं।

लोकायुक्त की तरफ से न्यायालय को बताया गया कि आशीष उपाध्याय निवासी ग्राम बसहा ने भेड़ाघाट थाने में पटवारी ज्ञानेन्द्र द्विवेदी की रिपोर्ट पर पंजीबद्ध अपराध की विवेचना में सहयोग करने के लिए एएसआई प्रभु दयाल ठाकुर द्वारा 50 हजार रूपये मांगे थे। दोनों के बीच सौदा 20 में तय होने के बाद प्रार्थी द्वारा लोकायुक्त में शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसकी प्रथम किश्त के 5000 रुपए लेने के लिये एएसआई को प्रार्थी ने एक ढाबा में गत 5 अगस्त को बुलाया था।

एएसआई ने ढ़ाबे में आकर जैसे ही रिश्वत की रकम अपने हाथ में ली तो उसकी नजर लोकायुक्त टीम पर पड़ गयी। एएसआई ने टीम को देखकर रिश्वत की रकम को टैबिल के नीचे फैंक दिया। लोकायुक्त टीम ने रकम जप्त कर उसके खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा के तहत प्रकरण दर्ज किया था। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.