ख्वाजा यूनुस की हिरासत में मौत : जांच अधिकारी को कारण बताओ नोटिस

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Jun 2018 11:34:44 AM
Khwaja Yunus death custody: Investigation officer to show cause notice

मुंबई। मुंबई की सत्र अदालत ने ख्वाजा यूनुस की हिरासत में मौत के मामले में गवाहों को पेश करने में पुलिस की विफलता पर जांच अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। न्यायाधीश वीएस पडल्कर ने कल नोटिस जारी करके घाटकोपर थाने के वरिष्ठ अधिकारी से पूछा कि चार गवाहों, जिनसे पूछताछ की जानी थी के अदालत से गैर हाजिर रहने पर उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की जाए।

स्वयंभू बाबा और उसके चेलों ने युवती के साथ किया कथित बलात्कार

मामले में मुख्य सरकारी वकील लता छेदा ने अदालत से पुलिस से यह पूछने का आग्रह किया कि अनेक समन जारी होने के बावजूद गवाहों को अदालत में क्यों पेश नहीं किया गया। न्यायाधीश ने रेखांकित किया पिछली तारीख पर उन्होंने पुलिस को रिपोर्ट दायर कर यह जानकारी देने का निर्देश दिया था कि क्या गवाहों को अदालत का समन मिला भी है या नहीं।

करीब एक किलो हेरोइन जब्त, सात लोग गिरफ्तार

पिछले तारीख पर खासतौर पर गवाहों को पेश करने का निर्देश दिया गया था क्योंकि मामला लंबे वक्त से लंबित है। अदालत ने टिप्पणी की कि समन रिपोर्ट दायर नहीं कर वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक ने आदेश की अवेहलना करने वाला आचरण दिखाया है।

गौरतलब है कि दो दिसंबर 2002 को घाटकोपर रेलवे स्टेशन पर बम विस्फोट हुआ था जिसमें दो व्यक्तियों की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने महाराष्ट्र के परभनी जिले से 27 वर्षीय सॉफ्टवेयर इंजीनियर यूनुस को गिरफ्तार किया था। वर्ष 2००3 में उसकी पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी।

रिश्ते शर्मसार! नाबालिग भाई ने अपनी बहन के साथ कर डाला ये घिनौना काम

अबतक एक ही गवाह डॉ अब्दुल मतीन ने मामले में गवाही दी है। इस साल जनवरी में अपनी गवाही में मतीन ने अदालत को बताया था कि घाटकोपर अपराध शाखा इकाई के चार पुलिस अधिकारियों ने यूनुस की बुरी तरह से पिटाई की थी। मतीन खुद मामले में सह आरोपी था , लेकिन बाद उसे सभी आरोपों से बरी कर दिया गया था।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.