नाबालिग लडक़ी का अपहरण कर दो युवकों ने उसके साथ किया गंदा काम और अब...

Samachar Jagat | Friday, 02 Nov 2018 05:50:38 PM
Life imprisonment for culprits in case of kidnapping and rape in Muzaffarpur

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

मुजफ्फरपुर। बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में एक नाबालिग लडक़ी का अपहरण करने और उसके साथ दुष्कर्म करने के मामले मेें दोषी आरोपी अब जिंदगी भर जेल की सलाखों के पीछे रहेंगे। कोर्ट ने दोनों आरोपियों को आजीवन कारवास की सजा सुनाई है। मीडिया रिपोट्र्स से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले की एक सत्र अदालत ने नाबालिग का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म करने के मामले में गुरुवार को दो लोगों को आजीवन कारावास के साथ ही एक-एक लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है।


चैकअप करने के नाम पर डॉक्टर ने महिला के साथ कि ऐसी घिनौनी हरकत, पढक़र उड़ जाएंगे आपके होश

मीडिया रिपोट्र्स से प्राप्त जानकारी के अनुसार अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (प्रथम) राकेश पति तिवारी ने मामले में सुनवाई के बाद नाबालिग के अपहरण और उसके साथ दुष्कर्म करने के मामले में लक्ष्मण पासवान और सुशील साह को यह सजा सुनाई है। अदालत ने दोषियों पर एक-एक लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है।

नाबालिग लडक़ी से दोस्ती कर उसे अपने घर ले गया कैब चालक और फिर खेला हवस का गंदा खेल

आरोप के अनुसार, दोषियों ने 23 अप्रैल 2014 को मुजफ्फरपुर स्टेशन के निकट से सीतामढ़ी जिले में रुन्नीसैदपुर थाना इलाके के मननपुर गांव की रहने वाली एक नाबालिग लडक़ी इलाज कराने के लिए मुजफ्फरपुर आई हुई थी।

टी20 में भारत को कड़ी टक्कर देने के लिए विंडित के खिलाड़ी बहा रहे पसीना

वापस घर लौटने के दौरान दोनों दोषियों ने उसका अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म किया था। मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में चालान पेश किया। इसके बाद कोर्ट ने सभी गंवाहों और मामले की जांच के बाद आरोपियों को दोषी करार देते हुए उन्हे ये सजा सुनाई है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.