जेल में बंद 18 साल के बंदी के साथ अप्राकृति यौनाचार करता था दूसरा कैदी, मेडिकल टीम ने की पुष्टी

Samachar Jagat | Wednesday, 05 Dec 2018 01:11:57 PM
Medical team confirms unnatural sex with captives in Bhagalpur

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

भागलपुर। बिहार के भागलपुर जिले में एक बंदी के साथ अप्राकृतिक यौनाचार का मामला सामेने आया है। यहां एक बंदी के साथ कथित रूप से अप्राकृतिक यौनाचार किया गया। यहां तक की इस बंदी के साथ हुए इस घिनौने काम की पुष्टी मेडिकल टीम ने भी कर दी है। मीडिया रिपोट्र्स से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के नवगछिया उपकारा के एक बंदी के साथ हुए कथित अप्राकृतिक यौनाचार मामले की चिकित्सा जांच करने वाली मेडिकल टीम ने इसकी पुष्टि कर दी है।


पढ़ाने का बहाना कर अपने रिश्तेदार की बेटी को बुलाया अपने घर और फिर खेलता रहा उसके जिस्म से...

भागलपुर के प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. राजकुमार चौधरी ने मंंगलवार को यहां बताया है कि इस मामले में पीडि़त बंदी गौरव कुमार की चिकित्सीय जांच के लिए गठित तीन सदस्यीय चिकित्सकों की टीम ने अपनी रिपोर्ट मंगलवार को नवगछिया उपकारा के अधीक्षक और पुलिस अधीक्षक को सौंप दी है। उन्होंने बताया है कि चिकित्सा जांच में गौरव के साथ अप्राकृतिक यौनाचार की पुष्टि हुई है जबकि उनके कपड़े और अन्य चीजों को फोरेंसिक जांच के लिए अन्यत्र भेजा गया है।

प्रतिबंध झेल रहे स्टीव स्मिथ के लिए ऑस्ट्रेलिया के उपकप्तान मार्स ने कही ये दिल छू लेने वाली बात!

इस बीच नवगछिया की पुलिस अधीक्षक निधि रानी ने बताया है कि पीडि़त बंदी की चिकित्सा जांच की रिपोर्ट आने के बाद आरोपी सजायाफ्ता कैदी कुंदन मिश्रा के विरुद्ध आगे की कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल दोनों को उपकारा के अलग-अलग वार्ड में शिफ्ट किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोपी कैदी को भागलपुर कारा मे शिफ्ट करने के लिए जिलाधिकारी को लिखे पत्र के बाबत आदेश मिलते ही उसे भागलपुर भेज दिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि नवगछिया उपकारा में दुष्कर्म के आरोपी एक अठारह वर्षीय बंदी गौरव कुमार के साथ एक दबंग सजायाफ्ता कैदी कुंदन मिश्रा द्वारा पांच दिन तक कथित अप्राकृतिक यौनाचार करने और किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दिए जाने की जानकारी पीडि़त बंदी ने अपने पिता रामवृक्ष मंडल को दी थी।

रणबीर के साथ ब्रेकअप को लेकर कैटरीना ने खोली अपनी जुबां, कही ये बड़ी बात!

इसके बाद रामवृक्ष मंडल ने तुरंत पुलिस अधीक्षक से अपने बेटे को बचाने की गुहार लगाई थी। पुलिस अधीक्षक ने उपकारा अधीक्षक को नोटिस जारी कर इस मामले की प्राथमिकी अविलंब थाने में दर्ज कर पीडि़त बंदी की चिकित्सा जांच कराने को कहा था। जिसके कारण आरोपी कैदी के खिलाफ अप्राकृतिक यौनाचार का मामला नवगछिया थाने में दर्ज कराया गया और पुलिस अभिरक्षा में पीडि़त बंदी को गठित चिकित्सकों की टीम के सामने पेश किया गया था।
 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.