बच्चों से उनकी हंसी और बचपन छीन लेता है यौन उत्पीड़न : अदालत

Samachar Jagat | Wednesday, 14 Feb 2018 04:03:20 PM
Sexual harassment takes children away from their laughter and childhood: court

नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने चार साल के बच्चे का यौन उत्पीड़न करने वाले व्यक्ति को 10 साल की सजा सुनाते हुए कहा कि बच्चे के दिलोदिमाग से यौन उत्पीड़न का घाव नहीं भरता है और यह उसके मन से हर अच्छी याद को खत्म कर देता है।

बीएसडीयू के छात्रों को मिलेगा थ्रीडी प्रिंटर बनाने का प्रशिक्षण 

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सीमा मैनी ने उत्तरी दिल्ली के निवासी मनोज को कठोर कारवास और 30,000 रुपए का जुर्माना लगाते हुए कहा कि बच्चे का यौन उत्पीड़न उसकी पूरी शख्सियत पर गहरा घाव छोड़ता है। बेहतरीन चिकित्सीय सहायता के बाद भी ये घाव कभी नहीं भरते हैं। ये घाव किसी की खुशियों को नष्ट कर देते हैं।

मथुरा में 24 घंटे में सडक़ हादसों में छह की मौत, एक की ट्रेन से कटकर मौत

यह बच्चे की हर मुस्कान और अच्छी याद को खत्म कर देता है। अदालत ने पीड़ित को जुर्माने की 20,000 रुपए की राशि दिए जाने के साथ ही तीन लाख रुपए का अलग मुआवजा देना भी स्वीकार किया।


 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.