एसटीएफ ने लखनऊ में गोदाम से पकड़ी 23 लाख की शराब,सात गिरफ्तार

Samachar Jagat | Saturday, 12 Jan 2019 10:00:16 AM
STF detained 23 lakhs of liquor, seven arrested in Lucknow in Lucknow

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने लखनऊ के पारा क्षेत्र से शुक्रवार को स्थानीय पुलिस के सहयोग से एक गोदाम पर छापा मारकर सात तस्करों को गिरफ्तार कर मौके से 664 पेटी तस्करी शराब और अन्य सामान बरामद किया। बरामद शराब की कीमत करीब 23 लाख रुपये आंकी गई है।


एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि लखनऊ के पारा क्षेत्र में एक गोदाम से एसटीएफ ने शरब की तस्करी करने वाले गिरोह के सात सदस्यों बाराबंकी निवासी राम खेलावन और मन कुमार के अलावा देवरिया निवासी अभिषेक सिंह, विकास सिंह और उग्रसेन सिंह ,गोरखपुर निवासी दिनेश रावत और बस्ती निवासी कन्हइ लाल को गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार तस्करों के कब्जे से 664 पेटी देशी शराब, 16 हजार नये ढ़क्कन विण्डिज देशी शराब के, लाखों की मात्रा में रैपर, होलोग्राम, पुराने ढ़क्कन और खाली बोतलों के अलावा बड़ी मात्रा में खाली पैकिंग कार्टून तथा पूराने पैकिंग कार्टूनों के अलावा चार मोबाइल फोन और 1430 रूपये की नगद बरामद की गई।

सिंह ने बताया कि एसटीएफ को सूचना मिली कि कुछ तस्कर अरूणाचल प्रदेश की शराब की तस्करी कर लखनऊ के एक किराये के गोदाम से रखी है। यह शराब लखनऊ और आस-पास के जिलों में बिक्री की जा रही है। इस सूचना पर एसटीएफ के निरीक्षक विनय गौतम के नेतृत्व एक टीम ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से पारा इलाके में नार्थ इण्डिया कालेज पिंक सिटी स्थित गोदाम पर पहुॅचकर शाम करीब सात बजे घेराबन्दी कर तस्करों को पकड़ और मौके से शराब और अन्य सामान बरामद किया गया। 

उन्होंने बताया कि पकड़े गये तस्करों ने पूछताछ पर बताया कि यह गोदाम कादिर खॉ का है, जिसे अनिल जायसवाल ने किराये पर ले रखा है। ये लोग अनिल जायसवाल के यहॉ काम करते है, अनिल जायसवाल दूसरे प्रान्तों से शराब की तस्करी कर गोदाम में एकत्रित करता है और बाद ये लोग गैर प्रान्त से आयी शराब की बोतलों के ढ़क्कन, होला ग्राम और रैपर को बदलकर यू0पी0 में प्रचलित विण्डिज देशी शराब की लगा देते है। 

इसके बाद पैकिंग कर अनिल जायसवाल इनकी सप्लाई लखनऊ और आस पास के जिलोंमे करता है। गैर प्रान्त से लाई गयी शराब का मूल्य उत्तर प्रदेश से काफी कम होने के कारण शराब की तस्करी की जाती है और स्थानीय ब्राण्ड के रैपर आदि लगाकर बेची जाती है, जिसमें अनिल जायसवाल को भारी लाभ प्राप्त होता है। सभी तस्करों को पारा थाने में दाखिल करा दिया गया है। आगे की कार्रवाई स्थानीय पुलिस करेगी। पुलिस अनिल जायसवाल की तलाश कर रही है। एजेंसी

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.