शादी के बाद नहीं हो रही थी संतान तो दो देवरों ने तांत्रिक के कहने पर अपनी भाभी का किया ऐसा हाल, पढक़र उड़ जाएंगे आपके होश

Samachar Jagat | Thursday, 11 Oct 2018 09:49:25 AM
When the children were not born, the devotees sacrificed their sister-in-law on the advice of Tantric

सीतामढ़ी। बिहार के सीतामढ़ी जिले में मानवता को शर्मसार करने वाला एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां  दो देवरों ने मिलकर तांत्रिक के कहने पर अपनी भाभी की ही बेरहमी से बलि दे दी। आरोपियों ने इस वारदात को इस कारण अंजाम दिया क्योंकि शादी के बाद उनके कोई संतान नहीं हो रही थी। उधर मामला सामने आने के बाद पुलिस ने दोनों देवरों और एक महिला को हिरासत में ले लिया है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है वहीं फरार तांत्रिक और उसके साथियों की तलाश में जुटी हुई है।

शौच के लिए बाहर गई महिला को जबरन खेत में ले गए चार युवक और फिर खेला ये गंदा खेल

मीडिया रिपोट्र्स से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के डुमरा थाना अंतर्गत शिवहर गांव में संतान नहीं होने पर एक तांत्रिक के कहने पर दो देवरों ने अपनी भाभी की गला रेतकर हत्या कर दी।  मीडिया रिपोट्र्स से प्राप्त जानकारी के अनुसार वारदात को लेकर पुलिस ने बताया है कि मृतका का नाम सरिता देवी (36) है। महिला के पति का नाम भगवान लाल मुखिया है।

महिला ने नहीं भरा मन तो उसकी 10 साल की बेटी पर बिगड़ी व्यक्ति की नियत और फिर...

रिपोट्र्स के अनुसार उन्होंने बताया है कि इस मामले में सरिता देवी के देवर सुनील मुखिया और वीर मुखिया एवं उनकी पत्नी इंदिरासन देवी को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जा रही है। मीडिया रिपोट्र्स से प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस ने बताया है कि तांत्रिक विनोद राम और उसके तीन सहयोगियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

पूजा के नाम पर बाबा 19 साल की लडक़ी के साथ एक साल तक करता रहा ये घिनौना काम

सुनील मुखिया और वीर मुखिया की पत्नी को शादी के बाद से अबतक कोई संतान नहीं होने पर तांत्रिक ने उनसे कहा था कि सरिता देवी डायन है और उनका घर सरिता की बलि मांग रहा है तभी सुनील एवं वीर को संतान की प्राप्ति होगी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.